Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

मप्र के पूर्व वित्तमंत्री जयंत मलैया समर्थक.. भारतीय जनता पार्टी के अनेक पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भी भाजपा छोड़ी..जिला भाजपा अध्यक्ष प्रीतम सिंहको सौपे अपने स्तीफे

 जिला भाजपा अध्यक्ष प्रीतम सिंहको सौपे अपने स्तीफे

मप्र के पूर्व मंत्री जयंत मलैया के बेटे सिद्धार्थ मलैया के बाद अब उनके अनेक वरिष्ठ समर्थक भाजपा के पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से स्तीफा दे दिश है। जिला भाजपा कार्यालय पहुचकर जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह को सौपे अपने स्तीफे में इन नेताओं ने उपेक्षा के साथ दूसरों दलों से आए नेताओं को महत्व दिए जाने के आरोप लगाए है। साथ ही दमोह उपचुनाव के बाद पार्टी से निलंबित चल रहे मंडल अध्यक्षों ने भाजपा प्रत्याशी की पराजय के लिए अन्य पदाधिकारियों को जिम्मेदार नहीं ठहराए जाने पर भी सवाल उठाए है।

दमोह। लंबे समय से पार्टी की नीतियों से आहत होकर भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व पदाधिकारियों ने भाजपा जिला अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपा इस्तीफा सौंपने वालों में तीन बार के पूर्व जिला महामंत्री, दस साल युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष रहे रमन खत्री, जिला मीडिया प्रभारी एवं पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला अध्यक्ष पद पर रहे कपिल सोनी, जिला मीडिया प्रभारी, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष मंडल अध्यक्ष रहे मनीष तिवारी, मंडल महामंत्री एवं मंडल अध्यक्ष रहे संतोष रोहित आनु से जनपद सदस्य रहे एवं मंडल अध्यक्ष अभिलाष मिंटू हजारी, दो बार के युवा मोर्चा मंडल महामंत्री एवं मंडल अध्यक्ष भाजपा रहे देवेंद्र सिंह राजपूत ने अपने इस्तीफे दिये।

रमन खत्री ने कहा कि पिछले कुछ समय से देखा जा रहा है कि वर्तमान भाजपा में सक्रिय एवं वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की घनघोर उपेक्षा की जा रही है और जो दल बदल कर नेता आ रहे हैं उनको अधिक सम्मान दिया जा रहा है पुराने कार्यकर्ताओं को कोई महत्व नहीं दिया जा रहा है जो नेता दल बदल कर रहे है उनके पैरों के तले भाजपा की मूल विचारधारा को रौंदने का काम किया जा रहा है इससे मन बहुत ही आहत है इसी कारण से हम सभी ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया है। हम किसी अन्य दल में शामिल नहीं होंगे यह स्पष्ट है। अच्छे विचार को जो आगे ले जाने और जो अपराध और भ्रष्टाचार मुक्त दमोह की पहल करेगा हम उसके साथ हैं सिद्धार्थ मलैया ने ऐसी पहल की है तो हम उनके साथ हैं।

bjp

कपिल सोनी ने कहा कि भाजपा में जो गतिविधियां चल सही है वह भाजपा संगठन की विचारधारा के अनुरूप नहीं है उन मूल विचारधारा पर काम नहीं किया जा रहा है मूल विचारधारा खत्म होती जा रही है सत्ता के लालच में मूल विचारधारा को खत्म किया जा रहा है। मनीष तिवारी ने कहा कि भाजपा में उन सभी पुराने और वरिष्ठ कार्यकर्ताओं जो पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया जी से जुड़े हैं उनकी लगातार उपेक्षा की जा रही थी उन्हें बैठकों में और कार्यक्रमों में नहीं बुलाया जा रहा था और उन्हें टारगेट किया जा रहा है इन सभी बातों से प्रताड़ित होकर और आयातित नेताओं को मूल कार्यकर्ताओं के ऊपर बैठा कर जो मूल कार्यकर्ताओं के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाई जा रही है उससे क्षुब्ध होकर हम सभी भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं।

mandal

मैं सवाल करना चाहता हूं संगठन से की हम सभी पांच मंडल अध्यक्ष सवा साल से निलंबित हैं उपचुनाव की हार के कारण हम सभी को निलंबित किया गया तो क्या उपचुनाव की संपूर्ण जिम्मेदारी केवल हम पांच मंडल अध्यक्षों की थी और यदि हां तो क्या उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी घोषित करने में हम सभी से पूछा गया था हमने पहले ही बता दिया था कि राहुल सिंह का काफी विरोध है और हमने जिताऊ प्रत्याशी का नाम दिया था मैं पूछना चाहता हूं कि क्या जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी युवा मोर्चा और अन्य मोर्चा पदाधिकारियों की उपचुनाव में कोई जिम्मेदारी नहीं थी स्वयं प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और अन्य कद्दावर मंत्री उपचुनाव में दमोह में रहकर काम करते रहे इन सभी की कोई जिम्मेदारी नहीं थी केवल हम पांच मंडल अध्यक्ष के बल पर चुनाव लड़ा गया था।

nilnbit

 निलंबित मंडल अध्यक्षों जब इस्तीफा देने के लिए पहुंचे थे तो जिला अध्यक्ष ने उनके इस्तीफा लेने से इनकार कर दिया कि आप सभी निलंबित हैं आप का इस्तीफा कैसा तब मनीष तिवारी ने कहा कि हमने निलंबित हैं निष्कासित नहीं और पार्टी संविधान के अनुसार हम आज भी भाजपा के प्राथमिक सदस्य हैं इस प्रकार की बातचीत के बाद जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने अन्य निलंबित मंडल अध्यक्षों के भी इस्तीफे लिए।

 

Post a Comment

0 Comments