Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

बटियागढ़ में अतिक्रमण हटाने के नाम पर मनमानी के खिलाफ ग्रामीणों का गुस्सा भड़का.. पटवारी के अतिक्रमण हटाने प्रदर्शन..

 दमोह जिले के बटियागढ़ में घरों दुकानों के बाहर के अवैध निर्माण को हटाने के लिए राजस्व विभाग द्वारा आनन-फानन में चलाई गई अतिक्रमण हटाओ मुहिम के दौरान आम लोगों को कोई मौका नहीं दिए जाने दूसरी ओर वर्षों से जमे पटवारी के अवैध निर्माण अतिक्रमण को बख्श दिए जाने से ग्रामीणों के बीच आक्रोश का माहौल बना हुआ है। बड़ी संख्या में आक्रोशित लोगों ने नारेबाजी के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़क किनारे तक पसरे पटवारी के अतिक्रमण को हटाने की मांग की..

 


यहा उल्लेखनीय है कि बटियागढ़ को नगर पंचायत बनाए जाने की सूचना कुछ दिन पहले जारी की गई है इधर पंचायत चुनाव की घोषणा के साथ अधिसूचना जारी होते ही चुनाव आचार संहिता में लग चुकी है। ऐसे में आनन-फानन में अतिक्रमण हटाए जाने की कार्यवाही अधिकांश किए जाने पर सवाल उठाते हुए आपत्ति जताए जाने का दौर जारी है। बटियागढ़ में घरों दुकानों के बाहर के अवैध निर्माण को हटाने के लिए राजस्व विभाग द्वारा आनन-फानन में चलाई गई अतिक्रमण हटाओ मुहिम के दौरान आम लोगों को कोई मौका नहीं दिए जाने दूसरी ओर वर्षों से जमे पटवारी के अवैध निर्माण अतिक्रमण को बख्श दिए जाने से ग्रामीणों के बीच आक्रोश का माहौल बना हुआ है। शुक्रवार को बड़ी संख्या में आक्रोशित लोगों ने नारेबाजी के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़क किनारे तक पसरे पटवारी के अतिक्रमण को हटाने की मांग की गई है।
आज प्रदर्शन ज्ञापन देने पहुंचे लोगों का कहना था कि कार्रवाई के पहले उनको कोई सूचना नहीं दी गई कायदे से जिन लोगों को 1 दिन पहले नोटिस दिए गए थे उनके खिलाफ ही कार्रवाई की जाना थी लेकिन एक लाइन से सभी के दुकानों के आगे जेसीबी को चलवा दिया दिया जबकि पटवारी का सड़क किनारे तक के पहले अवैध निर्माण की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया गया। ग्रामीणों का कहना है कि केवल उन्हीं लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए जिन्होंने पक्के अतिक्रमण कर रखे हैं। उन चद्दरों को हटाया जाए जिनसे परिवहन व्यवस्था प्रभावित हो रही है।जो गरीब टपरा रखें अपने परिवार का पालन पोषण करते आ रहे है उनको जीवन यापन करने के लिए वैकल्पिक इंतजाम किए जाने के बाद ही टपरे हटाए जाए।

Post a Comment

0 Comments