Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

सुनसान जंगल में पेड़ से टकराए मालवाहक के परखच्चे उड़े.. उप निरीक्षक की तत्परता से केबिन में फंसे तीनों लोगों की जान बची..

 पेड़ से टकराए मालवाहक के परखच्चे उड़े.

सागर जबलपुर स्टेट हाईवे पर दमोह जिले की तेंदूखेड़ा क्षेत्र अंतर्गत एक बार फिर रफ्तार का कहर देखने को मिला है रात करीब ढाई बजे तेज रफ्तार मालवाहक के पेड़ से टकरा जाने के बाद मौके पर पहुंचे उपनिरीक्षक की तत्परता से केबिन में फंसे 3 लोगों की जान बचा ली गई

दमोह जिले के तेंदूखेड़ा थाना अंतर्गत झलोन मार्ग पर नाग बाबा के समीप एक तेज रफ्तार माल वाहक बीच जंगल में पेड़ से टकराकर दुर्घटना ग्रस्त हो गया। हादसा इतना जबरस्त था कि माल वाहक का ट्राला उखड़कर जहां दूर फिक गया वही चालक सहित केविन में सवार तीनों लोग घायल होकर फस कर रह गए।

हादसा

देर रात हुए हादसे की सूचना राहगीरों के जरिए तेंदूखेड़ा थाना पुलिस तक पहुंचने के बाद उप निरीक्षक उमेश करोलिया तत्परता दिखाते हुए मौके पर पहुंचे। वक्त की नाजुकता को समझते हुए डायल हंड्रेड के पायलट धन सिंह और बीड़ी दुकान के मैनेजर महेंद्र दुबे के साथ मिलकर उन्होंने केबिन में फंसे ड्राइवर सहित तीनों लोगों को बड़ी मशक्कत के साथ सुरक्षित बाहर निकाला और अलाव का सहारा देकर अस्पताल पहुंचाया। जहां से तीनों घायलों को समय पर उपचार मिल जाने से जान बच गई। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार जबलपुर से रहली जा रहा तेज रफ्तार मालवाहक क्रमांक MP 15 G 4144 आधी रात के बाद सुबह करीब दो से तीन बजे के बीच पेड़ से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। ड्राइवर को झपकी लग जाने जाने की वजह से हुए इस हादसे की भीषणता का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि वाहन सामने से बुरी तरह से छतिग्रस्त हो गया और पीछे का ट्राला उखड़ कर खाई में पहुच गया और सामान दूर तक उछल गया। हादसे के बाद समय रहते उपनिरीक्षक के पहुंच जाने और उनकी तत्परता से बाहर में फंसे लोगों को निकालकर अस्पताल पहुंचा दिए जाने से तीनों की जान बच गई है।

जान बचाई

बताया जा रहा है कि रहली के ट्रासपोटर सत्य जीत जैन मालवाहक में ड्राइवर राजेंद्र अहिरवार और हेल्पर अशोक ठाकुर के साथ ट्रासपोर्ट का माल लेकर जबलपुर से लौट रहे थे। इसी बीच यह हादसा हो गया। घटना की जानकारी लगने पर सुबह 5 बजे घायलों के परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तेंदूखेड़ा पहुंचे और मामले की जानकारी लेकर सभी ने उपनिरीक्षक उमेश करोलिया का दिल से धन्यवाद किया। दो घायलों को जहां जबलपुर मेडिकल रेफर कर दिया गया है वह सत्यजीत को परिजन सागर ले गए हैं। तेंदूखेड़ा से विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments