Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

महाराणा प्रताप एवं छत्रसाल जयंती पर वीर शिरोमणियों की बहादुरी को याद किया.. केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने प्रताप प्रतिमा के साथ चेतक को भी पुष्पाजलि अर्पित की.. इधर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने की कोरोना की नियमित समीक्षा की..

 केंद्रीय मंत्री ने महाराणा की बहादुरी को याद किया

दमोह। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की जयंती अवसर पर केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने आज प्रातः जबलपुर नाका स्थित महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप और महाराजा छत्रसाल के चरणों में नमन करके कहां कि वह अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे है। राणा जी के वंशजों ने सबसे बड़ी परंपरा स्थापित की थी, जिसका आने वाली पीढ़ी को शायद कम जानकारी है, एकलिंग महाराज के कारन्दा के रूप पूरी पीढ़ियों तक सेवा करने वाली यदि कोई वंश परंपरा थी तो वह राणा जी की परंपरा थी। 

उन्होंने कहा स्वाभिमान और देश की आजादी से बड़ी दुनिया में कोई चीज नहीं हो सकती ,जो भी सर्वस्व न्योछावर  करना पड़े, वह हमें करना होगा, यह प्रेरणा महाराणा प्रताप जी से मिलती है। बाकी सभी लोग ऐश्वर्या के लिए रहते हैं, लेकिन महाराणा प्रताप जी ने राजयोग के लिए नहीं किया, भगवान एकलिंग जी महाराज कारंदा के रूप में किया और जब कभी भारत माता पर संकट आया तो सर्वस्व न्योछावर करने का जो कीर्तिमान स्थापित किया है वह महाराणा प्रताप जी ने ही किया हैं, इसलिए मैं मानता हूं कि आज भी जो सबसे ज्यादा प्रसांगिक है आने वाली पीढ़ी को उसका अनुसरण करना चाहिए और उसे इस परंपरा को आगे बढ़ाने की कोशिश भी करनी चाहिए। 

इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह, साहित्यकार नरेंद्र दुबे, महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य  कविता राय, पूर्व जिला अध्यक्ष पंडित बिहारी लाल गौतम, सांसद प्रतिनिधि, डाँ आलोक गोस्वामी, नरेंद्र बजाज ,भाजपा जिला मीडिया प्रभारी संजय सेन, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष प्रमोद विश्वकर्मा, एसडीएम राकेश सिंह मरकाम, सीएसपी अभिषेक तिवारी, सीएमओ नपा निशीकांत शुक्ला, कोतवाली टीआई सत्येंद्र सिंह, राजकुमार सिंह, प्रमोद विश्वकर्मा, सुशील गुप्ता, राकेश अग्रवाल, मनीष सोनी, कमल ठाकुर, कल्लू ठाकुर, प्रीतम चैकसे, राघवेंद्र सिंह परिहार, संजय यादव, भरत यादव, हरीशचंद्र गुड्डू पटैल, बिल्लू वाधवा, मिंटू माखीजा, प्रीतम राय, मुन्ना सोनी, बब्ली विश्वकर्मा, कुसुम खरे, संगीता राजपूत, वर्षा रैकवार, छाया साहू सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।


महाराणा की 481वीं जयंती मनाई, वृक्षारोपण किया
दमोह। जिला राजपूत क्षत्रिय महासभा द्वारा वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी की 481वी जयंती शासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए हर्ष उल्लास के साथ मनाई गई। सर्वप्रथम मूर्ति पर जिला अध्यक्ष राकेश सिंह हजारी द्वारा मूर्ति पर पूजा पाठ एवं माल्यार्पण किया गया। तत्पश्चात महाराणा प्रताप अमर रहे के जयघोष किए गए। 


 उपरांत महाराणा प्रताप जी की मूर्ति पर माल्यार्पण विधायक अजय टंडन, संरक्षक नारायण सिंह ठाकुर, देवी सिंह ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह, युवाध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह राजपूत, युवा उपाध्यक्ष राजवीर सिंह राजपूत, भाजपा नेता सिद्धार्थ मलैया, श्रीमती मालती असाटी, विक्रम सिंह ठाकुर, यशपाल सिंह ठाकुर, अमर सिंह, गौतम सुनील ठाकुर, शैलेंद्र सिंह परिहार, घन सिह राजपूत, मदन सिंह राजपूत, भारत पटवारी, बल्लू सिह, शंकर सिंह ठाकुर, महेन्द्र परिहार,


मयंक सिंह तोमर, कुंवर अनुज सिंह परिहार, विक्रांत राजपूत, रवि ठाकुर, लखन सिंह की कार्यक्रम में सराहनीय उपस्थिति रहीं। माल्यार्पण के उपरांत परिसर में वृक्षारोपण किया गया। जिसमें अशोक, शीशम, आदि के पौधे लगाए गए साथ ही यह संकल्प लिया गया कि जब भी कोई कार्यक्रम होगा उसमें वृक्षारोपण किया जावेगा।

जागरूक युवा संघ का महाराणा व छत्रसाल को नमन

दमोह। जागरूक युवा संघ ने मेवाड़ नरेश वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप सिंह सिसौदिया और बुंदेलखंड केसरी महाराजा छत्रसाल सिंह जी की जयंती पर जबलपुर नाका स्थित महाराणा प्रताप सिंह जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं श्रृद्धा सुमन अर्पित कर मनाई। 


संघ संयोजक ठाकुर अखिलेश सिंह घोष ने कहा कि मेवाड़ नरेश महाराणा प्रताप सिंह जी सिसौदिया और बुंदेलखंड केसरी महाराजा छत्रसाल सिंह जी सच्चे राष्ट्रवादी थे उन्होंने जीवन पर्यंत मातृभूमि की रक्षा और सम्मान के लिये संघर्ष किया, जब पूरा भारत खंड विदेशी आक्रमणकारी मुगलों के अत्याचार से ग्रसित था इन वीर योद्धाओं ने अपने अपने समय काल में भारत की प्रजा को एक शक्ति प्रदान करने का कार्य किया।  इसी प्रकार बुंदेलखंड केसरी महाराजा छत्रसाल सिंह जी ने भी मुगलों से जीवन पर्यंत संघर्ष किया इन महावीरों ने मुगल शासन को भारत में मजबूत नहीं होने दिया। 

संघ पूर्व अध्यक्ष कुंवर हरेंद्र सिंह परिहार दाऊ ने कहा कि महाराणा प्रताप सिंह और महाराजा छत्रसाल सिंह जी हम सभी युवाओं के लिये प्रेरणास्रोत हैं कि विषम परिस्थितियों में भी जो मातृभूमि की रक्षा और सम्मान के लिये संघर्ष करता है वह इतिहास में अमर हो जाता है इन महावीरों से हमें यह भी सीख मिलती है कि परिस्थिति कितनी भी विपरीत हो दृढ़ संकल्प और मातृभूमि के प्रति समर्पण आपको सदैव यश ही देगा। माल्यार्पण में ठाकुर अखिलेश सिंह घोष, कुंवर हरेंद्र सिंह परिहार दाऊ, सोनू सिंह राजपूत, रेशु ठाकुर आदि उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने की कोरोना की नियमित समीक्षा

दमोह। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कोरोना की नियमित समीक्षा बैठक वीसी के माध्यम से की। इसमें समस्त 52 जिलों के कोविड प्रभारी मंत्री, राज्य स्तरीय प्रभारी अधिकारी, संभागीय आयुक्त, कलेक्टर, पुलिस महानिरीक्षक,पुलिस अधीक्षक एवं जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य जिलों के एनआईसी सेंटर से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सम्मिलित हुए।


दमोह एनआईसी रूम में वीसी में कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य, विधायक पीएल तंतवाय, विधायक अजय टंडन, पुलिस अधीक्षक डी आर तेनीवार, सांसद प्रतिनिधि डॉक्टर आलोक गोस्वामी एवं नरेंद्र बजाज, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मालती असाटी, सीईओ जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव, एडीएम नाथूराम गोड, एसडीएम राकेश सिंह मरकाम , भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी, जिला अध्यक्ष कांग्रेस मनु मिश्रा, जिला व्यापारी महासंघ के अध्यक्ष संजय यादव, एडवोकेट राजीव बद्री सिंह ठाकुर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर संगीता त्रिवेदी, सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी, परीयोजना अधिकारी कपिल खरे, नगर पालिका अधिकारी निशिकांत शुक्ला, जिला सूचना अधिकारी मनोज शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments