Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

चाइनीस वायरस को इंडियन वेरियंट बताकर विश्व में भारत को बदनाम करने की कोशिश.. वर्चुअल बैठक में आग लगाने जैसे भड़काऊ बयान के विरोध में.. भाजपा नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर एफआईआर दर्ज कराने कोतवाली पहुचकर आवेदन दिया..

 कमलनाथ पर FIR दर्ज कराने कोतवाली पहुचे भाजपाई

दमोह। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के घटने के साथ कोरोना को लेकर राजनीतिक बयान वाजी अब उफान पर आती जा रही है। कांग्रेस नेता व मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा चाइनीस वायरस को इंडियन वेरियंट बताए जाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। उपरोंक्त बयान को विश्व में भारत को बदनाम करने व छवि खराब करने वाला बताकर भाजपा ने अब प्रदेश भर में कमलनाथ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी कड़ी में रविवार को प्रदेश में सभी जिला मुख्यालयों पर कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानें के लिए भाजपा नेताओं द्वारा आवेदन दिए गए।


दमोह जिला मुख्यालय पर जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने दमोह सिटी कोतवाली पहुचकर टी आई सत्येंद्र सिंह राजपूत को आवेदन के साथ  साक्ष्य सौंप कर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर मामला दर्ज करने की बात रखी। आवेदन में बताया गया कि कोरोना को लेकर कमलनाथ ने भारत की छवि खराब कर भय पूर्ण माहौल  निर्मित कर देश की जनता एवं किसानों को गुमराह कर देश की शांति भंग करवाकर अराजकता कारित करवाए जाने के उद्देश्य से भड़काऊ बयान का वीडियो जारी किए है। जिससे इस मामले में उनके खिलाफ रिपोर्ट लिखकर कानूनी कार्रवाई की जाए।


इस अवसर पर वेयरहाउसिंग एवं लाजिस्टिक कॉरपोरेशन चेयरमैन  राहुल सिंह, पी एल तंतुवाए विधायक हटा, धर्मेंद्र सिंह लोधी जबेरा विधायक, सांसद प्रतिनिधि आलोक गोस्वामी,   सतीश तिवारी, ब्रज गर्ग, जिला मीडिया प्रभारी संजय सेन,   महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्रीमती कविता राय,  राघवेंद्र सिंह परिहार, भरत यादव, सुरेश पटैल, रिंकू गोस्वामी सहित अन्य नेता कार्यकर्ता मौजूद। जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी ने कहा कि आज कोरोना काल में मुख्यमंत्री कमलनाथ को जनहित के काम करने चाहिए थे वह ऐसे समय भड़काऊ बयान जारी कर देश में और प्रदेश में अराजकता का माहौल फैलाने का प्रयास कर रहे हैं जो निंदनीय है इसलिए कानून सम्मत कार्रवाई कर एफ आई आर दर्ज कर कमलनाथ को गिरफ्तार करना चाहिए।


वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स विभाग के चेयरमैन राहुल सिंह, हटा विधायक पी एल तंतुबाय, जबेरा विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी, महिला नेत्री श्रीमती कविता राय, सांसद प्रतिनिधि आलोक गोस्वामी ने भी अपनी बात रखते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के द्वारा दिए गए अपने बयान में चाइनीस वायरस को इंडियन वेरियंट बताकर विश्व में भारत को बदनाम करने की कोशिश व कांग्रेस की एक वर्चुअल बैठक में आग लगाने जैसे भड़काऊ बयान के विरोध में कमलनाथ पर भारतीय दंड विधान की धारा 124। ,505 (1), 153।और 188 के तहत दंडनीय अपराध दर्ज कर गिरफ्तार करना चाहिए। 

Post a Comment

1 Comments

  1. कोई दूध का धुला नहीं है कोरोना में सभी दल राजनीति कर रहे है सिर्फ का की जान माल का नुकसान हो रहा है,

    ReplyDelete