Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

कोरोना कर्फ्यू में ऑटो से हो रहा था जबलपुर से आई अवैध शराब का परिवहन.. कोतवाली पुलिस ने चेकिंग के दौरान पकड़ी 80000 की देसी प्लेन मसाला शराब.. ढाबा पर सप्लाई होने वाली इस अवैध शराब के नकली होने की आशंका.. फोरेंसिक जांच से सामने आ सकती है सच्चाई..

 ऑटो रिक्शा से 305 पाव देसी शराब बरामद..

दमोह। जिले में कोरोना कर्फ्यू 5 जून तक बढ़ा दिए जाने से पीने पिलाने वालों के बीच भी बेचैनी भरे हालात बढ़ गए हैं इधर जिले में पुलिस कप्तान के बदले जाने के साथ विभिन्न थाना पुलिस द्वारा अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई करने में आई तेजी से देसी शराब बनाने बेचने और अवैध शराब का परिवहन करने वालों के बीच में हड़कंप मचा हुआ है।

ताजा मामला दमोह कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत एक ऑटो रिक्शा से परिवहन की जा रही करीब ₹80000 कीमत की देसी शराब के पकड़े जाने का सामने आया है। एसपी डीआर तैनीवार के निर्देशन तथा एएसपी शिव कुमार सिंह व सीएसपी अभिषेक तिवारी के मार्गदर्शन में कोतवाली प्रभारी टीआई सत्येंद्र सिंह राजपूत के नेतृत्व में लॉकडाउन व्यवस्था अंतर्गत वाहन चेकिंग के दौरान कोतवाली पुलिस ने एक ऑटो से परिवहन कर ले जा रहे अवैध शराब 305 पाव देसी प्लेन मसाला पकड़ी है।


जिसे अभियुक्त सुयोग चौबे अपने रिश्तेदार दिलीप चौबे विकास चौबे एवं साथी प्रकाश कोरी सभी निवासी दमोह के कब्जे स जप्त कर धारा 34 (2) ,42 आबकारी एक्ट 188,269 ipc 51 आपदा प्रबंधन का मामला पंजीकृत कर जेआर पर न्यायालय पेश किया गया। आरोपी ने पूछताछ में बताया की देसी शराब दुकान रानीताल जिला जबलपुर से खरीदी थी। जिसे लाकर जिला दमोह में विक्रय की जाना थी। उक्त कार्रवाई में एएसआई राजेंद्र आरक्षक सूर्यकांत पांडे आसिफ पंकज महेश का विशेष योगदान रहा।

नकली शराब की आशंका, जांच से खुलेगी असलियत

आज पकड़ी गई इस अवैध शराब को आरोपी भले ही जबलपुर रानीताल दुकान से लाना बता रहे हो लेकिन सूत्रों का कहना है यह नकली शराब है । तथा इसको जबलपुर बाईपास स्थित ढाबों पर सप्लाई किया जाता था। जहां से महंगे दामों पर खरीदकर पीने वालों का कहना है कि जर्दा तथा स्प्रिट से तैयार होने वाली यह नकली शराब है। ऐसे में कोतवाली टीआई को से जन अपेक्षा है कि आज पकड़ी गई शराब की फॉरेंसिक लैब में जांच कराएं। जिससे असलियत का पता लग सके।



Post a Comment

0 Comments