Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

मई के सोलहवें दिन 104 मरीजों की पाजेटिव रिपोर्ट.. बटियागढ़ में 65 वर्षीय महिला ने जीती कोरोना से जंग.. फतेहपुर में आयुष विभाग द्वारा पुलिस एवं पत्रकारों को त्रिकटु चूर्ण के पैकेट वितरित किए..12 वीं के विद्यार्थियों को घर पर ही मार्गदर्शन दे रहे जिले के 48 विषय विशेषज्ञ..

बटियागढ़ में 65 वर्षीय महिला ने जीती कोरोना से जंग

दमोह। कोविड़ केयर सेंटर बटियागढ़ में रविवार को 65 वर्षीय महिला ने कोरोना से जंग जीतकर अपने घर को रवाना हुई। कोविड़ मेडिकल स्टाफ के द्वारा फूल माला पहनाकर स्वस्थ लाभ की शुभकामनाओ के साथ घर के लिए विदा किया। महिला एवं परिजनों के मेडिकल स्टाफ एव सहयोगियों के आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर डॉ महेश लोधी मेडिकल आफीसर, डॉ राहुल चैरसिया, नेहा, कमरून निशा, अर्चना चैरसिया के साथ एम एच क्लब के सोहिल जेन, संजय चैरसिया, अंकित राजपूत की उपस्थिति रही।

मई के सोलहवें दिन 104 मरीजों की पाजेटिव रिपोर्ट

दमोह। आज 104 कोरोना मरीज सामने आये हैं इनमें दमोह से 18, सागर नाका दमोह से 02, ककरा से 03, जमुनिया से 01, जोरतला से 02, इमलिया से 02, कनोरा से 01, मडियादो से 02, फुटेरा वार्ड दमोह से 02, श्रीवास्तव कॉलोनी दमोह से 01, भौरासा से 01, कुमेरिया से 01, हटा से 04, सिविल वार्ड दमोह से 01, वैशाली दमेाह से 01, बेला मगरोन से 01, सुभाष कॉलोनी दमोह से 02, बरमासा से 01, सदगुवा से 02, असाटी वार्ड नं 02 से 01, राजीव कॉलोनी दमोह से 01, सिंधी कैम्प दमेाह से 01, मांगज वार्ड नं 05 दमेाह से 01, करैया से 01, छापरी से 02, पथरिया से 02, झागरी से 01, लखरोनी से 01, नदंरई से 08, किन्द्रहो से 01, नरसिंहगढ से 02, सासा से 01,


बटियागढ से 01, छिलोद से 01, जबेरा से 03, मझगुवा से 01, ककरेटा से 01, पटेरा से 01, महुआखेडा से 01, पडरी से 01, भरतलाई से 01, धनगौर से 01, तेजगढ से 01, हरदुआ से 03, बमनोदा से 04, तेदूखेडा से 02, रसौटा से 01, दासोदा से 01, पिपरोदा से 01, हिनौता से 01, खेजरा से 01, बरखेडा से 01, करैया से 01, डोंगरी से 01, लकलका से 01, बांसाकला से 01, सूखा से 01 शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं संगीता त्रिवेदी ने जिले के निवासियों से आग्रह किया हैं कि अभी कोरोना गया नही हैं आने वाले 6 माह और परस्पर सामाजिक दूरी और हाथ धोते रहें।

पुलिस एवं पत्रकारों को त्रिकटु चूर्ण के पैकेट वितरित किए

दमोह। कोरोना के बढ़ते संक्रमण एवं उससे हो रही मौतों से डॉक्टर व सरकारी कर्मचारी पत्रकार भी अछूत नहीं जिसे देखते हुए दमोह कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत एवं जिला आयुष अधिकारी डॉ राजकुमार पटेल के मार्गदर्शन में बटियागढ़ ब्लॉक के ग्राम फतेहपुर में फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में कार्य कर रहे पुलिस विभाग एवं पत्रकारों को रोगों से लड़ने हेतु उन्हें रोग प्रतिरोधक क्षमता मिल सके आयुष विभाग ने त्रिकटु काढा के पैकेट का वितरण किया गया। 

यह काढा कोरोना से लड़ने में यह सहायक सिद्ध हो सकेगा क्योंकि कोरोना की लड़ाई में कार्य करने वालों में इनकी महती भूमिका होती है इस दिशा में आयुष केंद्र फतेहपुर ने पुलिस चैकी फतेहपुर में पुलिस स्टाफ एवं पत्रकारों को काढा के पैकेट वितरित किए। इस मौके पर वितरण का कार्य आयुष अस्पताल फतेहपुर की डॉ प्रीति बिदौलिया, कंपाउंडर राममिलन बिदुआ व दवासाज शकुंतला वर्मा ने फतेहपुर चैकी प्रभारी पी डी दुबे, आरक्षक ऋषभ जैन, नवल डावर, सरमन अहिरवार, वरिष्ठ पत्रकार जयप्रकाश लुहरया, स्वामी सिंह गौड़, अमित दुबे को त्रिकटु काढा के पैकेट वितरण किए जिसे प्रशासन का सराहनीय कार्य माना जा रहा जो मैदानी स्तर पर कार्य कर रहे वह इस महामारी के प्रकोप से बच सकें।

12 वीं के विद्यार्थियों को घर पर ही मार्गदर्शन दे रहे जिले के 48 विषय विशेषज्ञ..

दमोह। माध्यमिक शिक्षा मंडल के निर्देशानुसार अब हाईस्कूल परीक्षा निरस्त कर दी गई है, तथा आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर ही उनका वार्षिक परीक्षा परिणाम तय किया जाएगा, लेकिन हायर सेकेंडरी परीक्षा होगी जिसकी तैयारी कोविड-19 के चलते विद्यार्थी जिले के विषय विशेषज्ञ के व्हाट्सएप नंबर के माध्यम से आने वाली परेशानियों को दूर करते हुए घर पर ही कर रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी एच एन नेमा, एडीपीसी शैलेंद्र असाटी के निर्देशन में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, अंग्रेजी, गणित, कॉमर्स, कृषि, राजनीति, भूगोल आदि विषयों के 48 विषय विशेषज्ञों की पैनल तैयार की गई है तथा इनके व्हाट्सएप नंबर प्राचार्य एवम कक्षा शिक्षक के माध्यम से विद्यार्थियों तक पहुंचाए गए हैं, यदि विद्यार्थी को कहीं पर भी कोई समस्या आती है तो पैनल के किसी भी शिक्षक द्वारा उसकी समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। सहायक परियोजना समन्वयक मोहन राय ने बताया कि जिले के परीक्षा परिणाम को बेहतर बनाने हेतु सब्जेक्ट एक्सपर्ट की टीम तैयार की गई है जो निरंतर ऐसे विद्यार्थियों के लिए वरदान सिद्ध हो रही है, जहां पर उस सब्जेक्ट के शिक्षक नहीं है और विद्यार्थी अपने विद्यालय के शिक्षक से समस्या का समाधान नहीं कर सकते थे। उन्हें अब 4 से 5 विषय विशेषज्ञों का पैनल समस्या समाधान हेतु उपलब्ध है।

Post a Comment

0 Comments