Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

प्रदुम्न सिंह के बाद राहुल सिंह को भी मिला भाजपा में शामिल होने का इनाम.. मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कारपोरेशन के चेयरमैन नियुक्त.. भाजपा में शामिल होने के ढाई माह बाद भी दमोह नहीं लौटे राहुल के अब जल्द आगमन की उम्मीद..

 राहुल सिंह को भी मिला भाजपा में शामिल होने का इनाम.. 

भोपाल/ दमोह। दमोह विधायक रहे राहुल सिंह को मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कारपोरेशन के चेयरमैन नियुक्त किए जाने की खबर ने सभी को चैंका कर रख दिया है। संक्रांति के ठीक पहले की गई इस नियुक्ति के बाद उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही राहुल सिंह अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों के बीच नजर आएंगे। 

 उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर हुए विधान सभा के उपचुनाव के प्रचार के दौरान राहुल सिंह अचानक ही कांग्रेसका दामन छोड़कर विधायक पद से इस्तीफा देते हुए भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। जिसके बाद कांग्रेस नेताओं ने उन पर तरह-तरह के आरोप लगाए थे लेकिन इनका सामना करने के लिए ढाई माह बीत जाने के बाद भी वह अपने विधानसभा क्षेत्र दमोह नहीं लौटे थे। हालांकि अब सूत्रों का कहना है कि 18 या 20 जनवरी को राहुल सिंह का भोपाल से दमोह आने का कार्यक्रम तय किया जा रहा हैं । और उनके साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीड़ी शर्मा के भी दमोह आने की संभावना भी जताई जा रही है।

ज्ञातव्य हो कि राहुल सिंह की तरह ही इनके पूर्व कांग्रेस विधायक का पद छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले उनके चचेरे भाई प्रदुम्न सिंह को खाद्य आपूर्ति निगम का अध्यक्ष बना दिया गया था वही बाद में बड़ा मलहरा से उन्हें भाजपा टिकट भी दी गई थी। जिसके बाद वह फिर से विधायक चुने गए थे। माना जा रहा है कि राहुल सिंह को भी भाजपा टिकट के पूर्व मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कारपोरेशन का चेयरमैन नियुक्त करके उनके भाजपा में शामिल होने के एक और वायदे को पूरा करने की कोशिश की गई है

उनकी नियुक्ति की खबर बुधवार रात आने की वजह से फिलहाल इसको लेकर दमोह जिले के कांग्रेस और भाजपा नेताओं की प्रतिक्रिया सामने नहीं आ सकी है लेकिन उनकी नियुक्ति पर हर्ष जताने वालों का अभाव भी फिलहाल साफ तौर पर नजर आया है। देखना होगा हिंडोरिया निवासी चचेरे भाइयों की जोड़ी के खाते में खाद्य आपूर्ति निगम के बाद वेयर हाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कारपोरेशन के चेयरमैन का पद भी चले जाने के बाद संबंधित विभागों के गड़बड़ी भरे हालातों में कोई परिवर्तन नजर आता है अथवा नहीं। अटल राजेंद्र जैन..

Post a comment

0 Comments