Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

पंचायतों में बंटाधार के लिए जिम्मेदारों पर नाम मात्र की कार्यवाही.. एक सचिव की वेतन वृद्धि रोकी तो दूसरे को निलंबन से बहाल कर बसूली के आदेश.. रोजगार सहायक जनपद पंचायत में अटैच.. इधर कलेक्टर कार्यालय में एटीएम का शुभारंभ..

 कलेक्टर कार्यालय में SBI के एटीएम का शुभारंभ 

दमोह। जिला कार्यालय केम्पस में आज दोपहर कलेक्टर श्री तरूण राठी ने एसबीआई के एटीएम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर बैंक अधिकारियों ने योनो एप के माध्यम से किस तरह से बिना एटीएम कार्ड राशि निकाली जा सकती है, के बारे में बताया। 

इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक जीएस अहिरवार, क्षेत्रीय प्रबंधक नवीन ओसवाल, एलडीएम विजय डिके, सुधाकर मोसिक, अरविंद श्रीवास्तव मुख्य प्रबंधक दमोह एवं बैंक के अन्य अधिकार-कर्मचारी, शासकीय वाहन चालक यांत्रिकी कर्मचारी संगठन के पूर्व अध्यक्ष गोपाल अग्रवाल आदि मौजूद रहे। 
बंटाधार के लिए जिम्मेदारों पर नाम मात्र की कार्यवाही..

दमोह। जिले के अधिकांश पंचायत क्षेत्रों में योजना के संचालन से लेकर निर्माण कार्यो के हालात महज औपचारिकताए पूरी करते भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ते नजर आते है वहीं सूचना के अधिकार तहत जानकारी या शिकायतें भी अधिकांश मामलों में घटिया अधूरे निर्माण व बंदरवाट के अंग बन चुके है। मजदूरों के बजाए मशीनो से कराए जाने वाले कार्यो की खानापूर्ति से लेकर तथाकथित खबर नबीसों की हिस्सेदारी भी बेशर्मी के साथ सामने आने के बाद जिन मामलों में समझोता नहीं हो पाता उनके निराकरण बाद में नाम मात्र की कारवाई करके कर दिए जाते है। फिलहाल यहां कार्यवाही की खबर ही अपडेट कर रहे है इन क्षेत्रों से जुड़ी शिकायतों व जांच के वास्तविक हालात से जल्द ही हम अवगत कराएंगे।

संचयी प्रभाव से एक वेतनवृद्धि रोकने का आदेश.. दमोह जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गिरीश मिश्रा ने विभागीय जॉच अधिकारी द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के आधार पर रामगोपाल अहिरवाल तत्कालीन सचिव ग्राम पंचायत दतला वर्तमान ग्राम पंचायत खेड़रा  जनपद पंचायत दमोह की मप्र पंचायत सेवा (अनुशासन तथा अपील) नियम 1999 के भाग 3 के 5 (क) में विहित प्रावधान अनुसार संचयी प्रभाव से एक वेतनवृद्धि रोकते हुये इनकी वूसली योग्य राशि 12800 रूपये वेतन से वसूल किये जाने के आदेश जारी किये है।

सचिव की वेतन वृद्धि रोककर किया निलंबन से बहाल.. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ गिरीश मिश्रा ने विभागीय जॉच अधिकारी द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के आधार पर मप्र पंचायत सेवा (अनुशासन तथा अपील) नियम 1999 के भाग 3 के 5 (क) में विहित प्रावधान अनुसार संचयी प्रभाव से ग्राम पंचायत दतला के सचिव श्री गोपाल सिंह की एक वेतन वृद्धि रोकते हुये विभागीय जॉच समाप्त की जाकर निलंबन से बहाल कर दिया है। इनकी पदस्थापना ग्राम पंचायत सुहेला जनपद पंचायत दमोह की गई है, साथ ही गोपाल सिंह सचिव से वसूली योग्य राशि 66175 रूपये इनकी वेतन से बसूल किये जाने के आदेश जारी किये गये है।

एक सचिव के जिम्में अब दूसरी पंचायत का कार्य भी.. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ गिरीश मिश्रा ने जनपद पंचायत हटा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा दिये गये प्रस्ताव अनुसार जनपद पंचायत हटा की ग्राम पंचायत देवरी फतेहपुर के सचिव प्रहलाद पटैल को शासन द्वारा संचालित योजनाओं एवं जनकल्याणकारी योजनाओं में लापरवाही एवं अनियमितता बरते जाने के आरोप में सचिव श्री पटैल को जनपद पंचायत कार्यालय हटा में संबद्ध किया जाकर ग्राम पंचायत चकरदा सचिव लखन पटैल को देवरी फतेहपुर का अतिरिक्त सचिवीय प्रभार सौपा गया है।

रोजगार सहायक जनपद पंचायत तेन्दूखेड़ा में संबद्ध.. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ गिरीश मिश्रा ने जनपद पंचायत तेन्दूखेड़ा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा दिये गये प्रस्ताव अनुसार ग्राम पंचायत धनगौर कला के रोजगार सहायक रामकिशन यादव के विरूद्ध ग्रामीणों द्वारा बार-बार शिकायतें प्रस्तुत किये जाने एवं अन्य कार्यो में रूचि नहीं लिये जाने के आरोप में रोजगार सहायक श्री यादव को प्रशासकीय सुविधा की दृष्टि से कार्यालय जनपद पंचायत तेन्दूखेड़ा में संबद्ध किया गया है।  

 उपरोक्त हालात में शिकायत कर्ताओं से लेकर जांच कर्ताओं का भले ही भला हो रहा हो परंतु पंचायतों में हुए बंटाधार पर पूरी तरह से पर्दा पड़ा हुआ है। हाल ही में ऐसे ही कुछ मामलो में जांच के बाद जो कार्रवाई की गई है उसके बाद भी अनेक सवाल अनुतरित्त है। खासकर कमीशनवाजी के चक्कर में पंचायतों के कार्यो का फर्जी मूल्यांकन करके इस तरह के हालातों को सत्यापित करने वाले तथाकथित उपयंत्री सबसे अधिक मजे में रहते है। शिकायत होने पर जांच के नाम पर जहां फिर से उनकी लाटरी निकल आती है वहीं कभी कोई शिकायत या कार्रवाई उनके खिलाफ हुई हो यह भी बहुत कम देखने को मिलता है। जबेरा में बंटाधार करके कुछ माह पहले दमोह जनपद में पदस्थ किए गए एक उपयंत्री के तो एडवांस में कमीशन लेने के चर्च भी अब खुलकर सामने आ रहे है। पिक्चर अभी बाकी है..

Post a comment

0 Comments