Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह, बांसा के चर्चित जुआ फड़ो को छोड़..चार थानों की पुलिस की स्पेशल टीम छतरपुर बॉर्डर पर पन्ना टाइगर रिजर्व के जंगल मे जुआड़ियों को पकड़ने पहुंची.. हाई प्रोफाइल जुआड़ी जंगल मे भागे, 10 गाड़ी और 20 हजार की रकम जप्त...

 लाखों की गाड़ियां मिलने के बावजूद मात्र 20 हजार की रकम जप्त...

दमोह। जिले में लॉकडाउन के टाइम से जगह जगह संचालित जुआ फड़ो पर जब कभी पुलिस की स्पेशल टीम की वक्र दृष्टि पड़ने के पहले मुखबरी की काली छाया पड़ने का दौर जारी है। ताजा मामला दमोह छतरपुर जिले की बॉर्डर पर पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र में सामने आया है जहां 4 थानों की पुलिस के पहुंचने के पहले ही हाई प्रोफाइल जुआरी भागने में सफल हो गए। पुलिस के हाथ लाखों की गाड़ियां तथा उनके ड्राईवर ही लगे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार एसपी हेमंत चौहान के निर्देशन तथा नोहटा थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह राजपूत के नेतृत्व में पुलिस की स्पेशल टीम मडियादो थाना अंतर्गत दमोह छतरपुर जिले की बॉर्डर पर पन्ना टाइगर रिजर्व  के जुनेरी के जंगल में धड़ल्ले से चल रहे रिस्क जुआ पर छापा मारने पहुंची थी। लेकिन पुलिस के पहुंचने के पहले ही शातिर जुआरियों को इसकी भनक लग गई और वह जंगल के रास्ते भागने में सफल हो गए। 6 कार जीप और उनके ड्राइवर तथा 4 बाइक व कुछ जुआरी ही पुलिस के हाथ लग सके। जिनके पास कुल मिलाकर 20 हजार की रकम है बरामद होने की जानकारी सामने आई है।

जबकि पुलिस की स्पेशल टीम में नोहटा थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह राजपूत, पटेरा थाना प्रभारी अभिषेक चौबे,  हिंडोरिया थाना प्रभारी सविता रजक, मडियादो थाना प्रभारी अरविंद सिंह सहित पुलिस बल शामिल बताया गया है। जानकारों का कहना है लाखों की गाड़ियां लेकर छतरपुर पन्ना और दमोह जिले के घुमक्कड़ जुआड़ियों की महफिले यहा लंबे समय से सज रही थी। लाखों के दाव लगते थे और मौज मस्ती का दौर भी चलता था। पूर्व में इसी तरह की जुआड़ियों की एक महफिल को हटा पटेरा रोड पर पूर्व टीआई राजेश बंजारे ने एक चर्चित बरात घर से पकड़ा था। लेकिन बाद में इस फड़ का स्थान भी एफ आई आर में बदल गया था। 

सूत्रों का कहना है पन्ना टाइगर रिजर्व इलाके में लंबे समय से छतरपुर पन्ना दमोह खजुराहो आदि के हाई प्रोफाइल लोगों की महफिल सजने की खबर पुलिस तक पहुंच रही थी लेकिन पुलिस तक कुछ भी नहीं पहुंच रहा था। आज भी जब पुलिस की टीम पहुंची  तो उसके पहले ही अधिकांश हाई प्रोफाइल जुआड़ी भागने में सफल हो गए। जो लोग पुलिस के हाथ लगे हैं उनमें आधा दर्जन तो गाड़ियों के ड्राईवर हैं जो फ़टे पुराने कपड़े पहने हालात को बयां करते दिख रहे थे। जिनके पास ठीक से पहनने को कपड़े और जूते भी नही थे उनके जेब के दो पांच सौ रुपए भी जुआ की जब्ती में शामिल होने की बात कही जा रही है। मामले में मडियादो थाना प्रभारी अरविंद सिंह का कहना है कि अनेक लोग  मौके का फायदा उठाकर जंगल में भाग गए  वही 17 जुआड़ीयो  से 20 हजार रुपए जप्त हुए हैं। 6 फोर व्हीलर और चार बाइक बरामद हुई है।
दमोह, बांसा, हटा के जुआ फड़ो पर मेहरबान पुलिस.. !
दमोह के गार्ड लाइन, पुराना थाना, तीन गुल्ली सहित अन्य क्षेत्रों तथा देहात थाने के बांसा, इमलाई, खजरी सहित अन्य क्षेत्रों में लंबे समय से जुआ फड़ो के संचालन के हालात किसी से छिपे नहीं है। इन बड़े जुआ फड़ो के लंबे समय से संचालन की जानकारी आसपास के क्षेत्रों से लेकर दूरदराज के जुआड़ियों तक को होने के बावजूद पुलिस की वक्र दृष्टि इन पर नहीं पढ़ना सब कुछ रजामंदी से संचालित होने के हालात की ओर इशारा करते है। वही तथाकथित राजनैतिक संरक्षण और कुछ खबरचियों की दलाली कमीशन बाजी की चर्चाएं भी सरगर्म होने के साथ सार्वजनिक होती जा रही हैं। हालांकि समय-समय पर इन स्थानों पर छापामार कार्रवाई की औपचारिकताएं भी होती रही है। इधर सिटी एसपी के पद पर एक यंग अधिकारी की पोस्टिंग के बाद भी सब कुछ पहले के जैसा चलना अच्छा संकेत नहीं कहा जा सकता वही प्रदेश में 28 उपचुनाव के बाद चर्चित फड़ व पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोलनें की चर्चा करने वाले एक नेता पुत्र की चुप्पी भी आश्चर्य जनक है .. पिक्चर अभी बाकी है

Post a Comment

0 Comments