Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सरदार पटेल जयंती पर मूर्ति स्थापना हेतु केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटैल ने किया भूमि पूजन.. पूर्व मंत्री जयंत मलैया ने पिताजी की स्मृति में 1 लाख रू. देने की घोषणा.. फिर भी सांझ ढलते जस के तस हालात.. सरदार पटेल ओवरब्रिज पूर्व की तरह अंधकार में..

सरदार पटेल जयंती पर मूर्ति स्थापना हेतु भूमि पूजन..

दमोह। महापुरुष कोई भी हो उनको सरकार के भरोसे नहीं छोड़ा जाना चाहिए, समाज उसकी जिम्मेदारी लें, मैंने अपने जीवन में कभी सरकारी पैसे से प्रतिमा नहीं लगने दी, जमीन सरकार की हो सकती है, मूर्ति लगने के बाद रखरखाव भी सरकारी हो, लेकिन समाज अपनी जिम्मेदारी से दूर ना भागे यह मेरा दृष्टिकोण रहा है। स्वभाविक है जिस समाज में कोई महापुरुष होता है, उस समाज का सिर गर्व से उंचा उठ जाता है, समाज को उनके बताए मार्ग पर चलने का अधिकार है, उसको कोई रोक नहीं सकता। 

  इस आशय के विचार आज केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री प्रहलाद पटैल ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की 145 वीं जयंती पर मूर्ति स्थापना हेतु सागर नाका ब्रिज के समीप आयोजित गरिमामय भूमि पूजन कार्यक्रम में व्यक्त किये।  सबने अपना मन बनाकर पूज्य सरदार श्री पटेल जी की प्रतिमा लगाने का जो संकल्प लिया है, इस बात के लिए सब का हृदय से धन्यवाद मानता हूँ। उन्होंने कहा मैं प्रारंभ से ही इस बात का समर्थक हूं, सरदार सबके हैं, इसलिए समाज अगुवाई करें, सहयोग करें, इसके साथ ही सभी अन्य समाज के लोग भी जिम्मेदारी के साथ सहयोग करें, यह स्थान उसी एकता का स्थान बने, जो सरदार पटेल ने संकल्प लेकर पूरा किया, एकता तभी संभव हो सकती है, जब महापुरुषों को जाति में ना बाटे, उन पर गर्व करें। 

 उन्होंने कहा इस स्थान के लिए विभागीय एनओसी आना बाकी है, जिला कलेक्टर इस संबंध में कार्यवाही कर रहे हैं, 31 दिसंबर 2021 जब यहां पर कार्यक्रम करेंगे। यहां पर मूर्ति लगने के साथ पार्क भी डेवलप किया जाएगा। मूर्ति बनाने में जिन लोगों ने सहयोग किया है, उन सबका ह्रदय से आभार मानता हूं। हम सब ने शपथ ली है, हम सरदार के कार्यों के लिये उस पथ पर चले जो वह करके चले गए। हमें उनकी जीवनी को पढ़ना उनकी कार्यशैली को देखना चाहियें। 

पूर्व वित्तमंत्री श्री जयंत मलैया ने कहा यशस्वी मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा यहां पर सरदार वल्ल्भ भाई पटेल की मूर्ति स्थापित करने का जो उन्होंने संकल्प लिया है, उनका मैं साधुवाद करता हूं। श्री मलैया ने कहा यह सेतु रेलवे की ट्रेक को दोनों तरफ से जोड़ता है, इसे एक बनाता है, इसी तरीके से सरदार बल्लभ भाई पटेल ने पूरे देश को एक किया, आज यदि पूरा देश एक मत है, तो वह सरदार पटेल के कारण है, उनके चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं,। इस अवसर पर श्री मलैया ने अपने पिताजी स्व. श्री विजय कुमार मलैया की स्मृति में मूर्ति बनाने के लिए 01 लाख रुपये की राशि देने की घोषणा की। 

इस अवसर पर विधायक पथरिया रामबाई गोविंद सिंह परिहार ने कहा आज सरदार पटेल की प्रतिमा स्थापित करने भूमि पूजन किया जा रहा है, इसके लिए केंद्रीय राज्य मंत्री श्री प्रहलाद पटेल को धन्यवाद। उन्होंने कहा कुर्मी समाज को आगे बढ़ चढ़कर मूर्ति बनाने में आगे आना चाहिए, ज्यादा से ज्यादा हो सके दान कर सहयोग करना चाहिए।  

इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटैल, विधायक जबेरा धमेन्द्र सिंह लोधी, सांसद प्रतिनिधि डॉ आलोक गोस्वामी, रामकली पीएल तंतुवाय, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष नरेन्द्र व्यास, पूर्व विधायक लखन पटैल, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मालती असाटी, प्रतिभा तिवारी, गोपाल पटैल, जनपद अध्यक्ष बद्री पटैल,मोन्टी रैकवार, अनुपम सोनी, शशांक लोधी, चंदू उपाध्याय, मोहन पटैल, महेश पटैल, गुड्डू पटैल, बृजेश कपश्या सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

फिर भी सरदार पटेल ओवरब्रिज का नहीं हुआ दूर अंधेरा.. 

लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल जयंती पर भले ही उनके नाम वाले सागर नाका ओवर ब्रिज के समीप 31 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के आतिथ्य में सरदार पटेल की प्रतिमा हेतु भूमि पूजन समारोह संपंन हो गया परंतु ओवर ब्रिज पर छाई अमावस की काली घटा शरद पूर्णिमा पर भी दूर नहीं हो सकी। शनिवार दोपहर यहां आयोजित कार्यक्रम में भले ही केंद्रीय मंत्री से लेकर पूर्व वित्त मंत्री, भाजपा बसपा विधायकों से लेकर भाजपा नेताओं की माजूदगी रही हो परंतु किसी ने भी साल भर से बंद पड़ी ओवर ब्रिज की स्ट्रीट लाईट को चालू कराने के मामले में पहल करने ध्यान नहीं दिया। जिससे सांझ ढलते ही यहां पर पूर्व की तरह अंधकार के साथ काली घटा छाई शरद ऋतु आई की बात चरितार्थ होती नजर आई। 


Post a comment

0 Comments