Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कटनी बहोरीबंद पुलिस ने दमोह जिले से शराब तस्करी करते हुए जबलपुर के दो पुलिस कर्मीयो को रंगे हाथों पकड़ा.. कोतवाली में पदस्थ होम कोरेंटाईन पुलिसकर्मी भी शराब तस्करी में लिप्त मिला.. 90 हजार की शराब के साथ कार जब्त..

 होम कोरेंटाईन पुलिसकर्मी कर रहा था शराब तस्करी..

कटनी/ जबलपुर। शराब के अवैध कारोबार में किस तरह से जबरदस्त कमाई है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिनके जिम्मे शराब के अवैध कारोबार को रोकना है वही शराब की अवैध तस्करी मे लिप्त हो रहे हैं। ताजा मामला बहोरीबंद कटनी क्षेत्र में सामने आया है जहां पुलिस ने कार्यवाही करते हुए जबलपुर के दो पुलिस कर्मियों को कार से शराब तस्करी करते हुए रंगे हाथों पकड़ा है। उनमें से कोतवाली जबलपुर में पदस्थ एक पुलिस कर्मी रिकॉर्ड में कोरोना संक्रमण के चलते होम क्वॉरेंटाइन था। वही दूसरा बिना बताए ड्यूटी से गायब था। दमोह जिले की कुम्हारी शराब दुकान से शराब तस्करी का यह खेल लंबे समय से चल रहा था..

  मामले की जानकारी देते हुए कटनी एसपी ललित शाक्यर ने बताया कि स्लीमनाबाद एसडीओपी पीके सारस्वत के निर्देशन में बहोरीबंद टीआई रेखा प्रजापति एवं बाकल थाने की टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर रैपुरा- - बहोरीबंद-सिहोरा मार्ग पर अल्टो कार क्रमांक एमपी 20 टीए 1926 की रोक कर तलाशी ली गई थी। कार में 162 लीटर देसी शराब पाए जाने परन्तु उसके कागजात नहीं मिलने पर कार चालक कटंगी निवासी  योगेश साहू  तथा आरक्षक मनोज असैया एवं रामनरेश तिवारी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में कार्रवाई करके 90000 रुपए कीमत की 900 पाव देसी शराब एवं अल्टो कार को जप्त किया गया है। 

पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि वह दमोह जिले की कुम्हारी शराब दुकान के ठेकेदार संजय राय और मैनेजर नरेंद्र राय से उपरोक्त शराब खरीदकर जबलपुर तथा आसपास के क्षेत्रों में बेचने का काम लंबे समय से कर रहे थे। खास बात है कि जबलपुर कोतवाली में पदस्थ आरक्षक मनोज पिछले 8 दिनों से रिकॉर्ड में होम क्वॉरेंटाइन था। दूसरा आरक्षक रामनरेश तिवारी जबलपुर लाइन से पिछले 8 दिनों से बिना सूचना के गायब था। 


उल्लेखनीय है कि दमोह जिले की विभिन्न दुकानों से जबलपुर तथा आसपास के क्षेत्रों में शराब तस्करी के मामले लगातार सामने आते रहे हैं पिछले महीने भी दमोह की शराब दुकान से जबलपुर शराब ले जाते हुए बेलखाडू पुलिस ने शराब गाड़ी सहित आरोपी को गिरफ्तार किया था। तथा गद्दीदार के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज किया था उसके बावजूद शराब की तस्करी पर रोक नही लग पाना स्थानीय पुलिस की मिलीभगत को उजागर करता है.. इधर पूरे घटनाक्रम की जानकारी लगने पर जबलपुर एसपी राजेश बहुगुणा ने दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं

Post a comment

0 Comments