Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नामर्दी छुपाने के लिए पति बना रहा था सोने की चैन और दो लाख रुपए लाने का दबाव.. पत्नी ने मर्दानगी दिखाते हुए शिक्षक पति के खिलाफ दर्ज कराई कोतवाली में FIR.. पहली पत्नी भी रिपोर्ट दर्ज कराकर ले चुकी थी तलाक..

 पत्नी ने कोतवाली में दर्ज कराया दहेज प्रताड़ना का अपराध..

दमोह। दहेज के लिए अपनी दूसरी पत्नी को परेशान करने और दो लाख रुपए लाने का दबाव तथा सोने की चैन इत्यादि मांगने वाले एक शिक्षक पति के खिलाफ उसकी पत्नी ने मर्दानगी दिखाते हुए कोतवाली में दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया है। पूर्व मैं इसी तरह अपनी पहली पत्नी को प्रताड़ित करने और बाद में तलाक लेने वाले शिक्षक पति के नामर्द होने के आरोप भी दूसरी पत्नी ने लगाए हैं माना जा रहा है कि इसी नामर्दी के दोस्त को छिपाने के लिए वह अपनी पत्नी से विवाह संबंध स्थापित करने के बजाए पहले सोने की चैन लाने की मांग कर रहा था।

मामला दमोह के फुटेरा वार्ड के संविदा शिक्षक वर्ग 3 मनोज चौरसिया से जुड़ा है। जिसकी पत्नी का आरोप है की मनोज वैवाहिक सम्बन्ध बनाने में सक्षम नही था फिर भी झांसा दहेज के लालच में उसने दूसरा कर लिया था।  गुना निवासी महिला के माता-पिता ने जनवरी 2020 में  विवाह के समय दहेज का सामान दिया था परन्तु विवाह के करीब 15 दिन बाद ही पति मनोज चौरसिया व सास  द्वारा महिला को मानसिक व शारीरिक रुप से प्रताड़ित किया जाने लगा। यह लोग दहेज के रुप में सोने की चैन व 2 लाख रुपये की मांग कर रहे थे। ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान होकर महिला के द्वारा अपनी मां व भाई को दमोह बुलाया तब जाकर महिला के द्वारा 27 सितंबर की शाम कोतवाली जाकर प्रकरण दर्ज कराया है।



 पीड़िता ने बताया कि आरोपी मनोज चौरसिया का विवाह पूर्व में रोशनी नाम की युवती के साथ हुआ था। परन्तु उसको भी दहेज के लिऐ प्रताड़ित करने के कारण रोशनी द्वारा भी मनोज चौरसिया आदि के विरुद्ध थाना दमोह में धारा 498ए एवं अन्य धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध कराया था। बाद में दोनों के  मध्य तलाक हो गया। आरोपी की यह दूसरी शादी थी। 

आरोपी मनोज चौरसिया के द्वारा कई दिनों तक पीड़िता के साथ वैवाहिक सम्बन्ध स्थापित नही किऐ। पीड़िता के कुछ भी कहने पर पीड़िता की सास माया चैराियसा एवं पति मनोज पीड़िता के साथ मारपीट करते थे। कई दिनों बाद पीड़िता को पता चला कि मनोज चौरसिया नपुंसक है और पीड़िता के साथ शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम नही है। पीड़िता के द्वारा अपने पति से इलाज कराने को कहा परन्तु पीड़िता के पति के द्वारा अपना इलाज नही कराया गया बल्कि पीड़िता से दहेज की मांग करने लगे।

Post a comment

0 Comments