Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अगस्त के तीसवे दिन 627 पर पहुचा टोटल कोविड केस स्कोर.. 9 नए मरीज अस्पताल पहुचे, 18 पुराने मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौटे.. एक ओर मीडियाकर्मी संक्रमित हुआ.. 431 मरीजो की सेंपल रिपोर्ट अभी बाकी.. नागपुर में इलाजरत दो बच्चों की रिपोर्ट भी दमोह पहुची..

9 नए मरीज अस्पताल में, 18 पुराने घर वापस लौटे
दमोह। अगस्त के अंतिम दिनों में भी कोरोनावायरस संक्रमण असर के चलते नए मरीजों के मिलने का दौर जारी है आज जो 9 नए मरीज मिले हैं उनमें से दो पहले से ही नागपुर में इलाज करा रहे थे। इनकी पॉजिटिव रिपोर्ट आज ही दमोह पहुंचने तथा सात अन्य पॉजिटिव रिपोर्ट आने से अगस्त के तीसवे दिन दमोह जिले में टोटल कोविड-19 केसों की संख्या 627 हो गई है जबकि अभी 431 पेशेंट की सैंपल रिपोर्ट आना बाकी है। इधर कोरोना संक्रमण से दमोह के लोगों की सागर तथा अन्य स्थानों पर मौत की खबर लगातार सामने आने के बावजूद 30 अगस्त के दमोह के स्वास्थ्य बुलेटिन में कोरोना से मृत लोगों की संख्या पूर्व की तरह 14 ही दर्ज दिखाई दे रही है।
 रविवार को सामने आए नो नए मरीजों में 7 मेल तथा दो फीमेल है। शहर के विवेकानंद नगर, मुकेश कॉलोनी, महावीर वार्ड, शांति नगर कॉलोनी मैं नए मरीज मिले हैं इधर पथरिया के वार्ड एक, तीन एवं 9, शास्त्री वार्ड हटा, पटेरा एवं कोटा रामगढ़ा से भी एक एक नए मरीज मिले है। इनमें महावीर वार्ड और मुकेश कॉलोनी निवासी 10 तथा 4 वर्ष के बच्चों का नागपुर में इलाज चल रहा है। इनकी रिपोर्ट नागपुर से दमोह आने के बाद इनकी संख्या भी दमोह के केसों में काउंट की गई है। आज आई रिपोर्ट में हटा के एक पत्रकार की रिपोर्ट भी पाजेटिव आई है। जिसे मिलाकर जिले में कोरोना से संक्रमित होने वाले पत्रकारों की संख्या भी तीन हो गई है। 
आज 18 कोरोना योद्धा हुए डिस्चार्ज..
दमोह। जिले के कोविड केयर सेंटरों से लगातार खुशियों का सिलसिला जारी हैं, आज डीसीएससी वार्ड दमोह से 09, पॉलोटेक्निक कोविड केयर सेंटर से 08 एवं हटा कोविड केयर सेंटर से 01 कोरोना योद्धा स्वस्थ्य होकर अपने घरों को रवाना हुए। इस प्रकार आज 18 कोरोना योद्धा डिस्चार्ज किया गया। सभी कोरोना योद्धाओं को स्वागत सम्मान के साथ उनके घरों की ओर रवाना किया गया। 

इस अवसर पर आरएमओ डाँ दिवाकर पटेल ने कहा आज डीसीएससी वार्ड से 09 कोरोना योद्धा डिस्चार्ज हुये हैं, इसमें से 05 मरीज गंभीर अवस्था में थे, लगातार उपचार और आक्सीजन थैरेपी से आज हमारे सभी योद्धा अपने परिजन के पास जा रहे हैं। उन्होंने कहा किसी भी प्रकार के लक्ष्ण आने पर तुंरत जिला चिकित्सालय आयें, यहां 03 या 05 दिन की दवा दी जायेगी, साथ ही यदि 05 दिन में ठीक ना होने पर कोरोना की जाँच की जायेगी, उपचार दिया जायेगा। डाँ पटेल ने कहा जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करें।

Post a comment

1 Comments

  1. एक लाख पचास एक मरीज पर खरच होना है जो मप्र सरकार बोल रही है कितने दिन मे ये नहीं पता कही कोई??

    ReplyDelete