Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अगस्त के चौथे दिन आई 18 पाजेटिव रिपोर्ट.. दमोह में कोरोना से एक और मौत की पुष्टि.. एटीएम ब्लास्ट कांड से जुड़े मुख्य आरोपी की रिपोर्ट भी पाजेटिव आने की खबर.. जिला अस्पताल कोविड वार्ड में इलाजरत जिस बुर्जुग की कल मौत हो गई थी आज उनकी रिपोर्ट भी पाजेटिव आई.. .

अगस्त के चौथे दिन आई 18 पाजेटिव रिपोर्ट..
दमोह। अगस्त के चौथे दिन कोविड 19 जांच सेंपलों में से 18 रिपोर्ट पाजेटिव आने तथा एक की मौत हो जाने से हड़कंप के हालात बने रहे।आज जिन मरीजों की पाजेटिव रिपोर्टो में एटीएम ब्लास्ट कांड से जुड़े मुख्य आरोपी की रिपोर्ट भी पाजेटिव बताई जा रही है। कोरोना संक्रमण काल में अगस्त का महीना दुर्भाग्य शाली साबित हो रहा है। दमोह जिला अस्पताल स्थित कोविड-19 सेंटर में इलाजरत नयाबाजार निवासी जिस बुर्जुग की कल मृत्यु हो गई थी उसकी कोराना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आज आई है। जिसके बाद अस्पताल के स्टाफ ने शव गृह में रखें उसकी देह को मंगलवार शाम कब्रिस्तान ले जाकर सुर्पुदे खाक करने की क्रिया को संपंन कराया। 
दमोह जिले में आज के केसों को मिलाकर मंगलवार 4 अगस्त तक कोविड 19 केसों की कुल संख्या 251 तक पहुच चुकी है। जिनमें से 128 मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज भी हो चुके है। इधर कोरोना पेशेंट की मृत्यु के हिसाब से देखें तो जिले में यह पांचवीं मौत है। सबसे पहले फुटेरा निवासी बुजुर्ग तथा इसके बाद हटा निवासी बुजुर्ग की सागर में इलाज के दौरान मौत हुई थी। वही जबलपुर में इलाजरत एक मरीज की मौत के पहले कोरोेना रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी। इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में अंत्येष्टि होने से अंदाजा लगाया जा सकता है कि मामला गंभीर था। कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद भी मौत का एक और मामला सामने आ चुका है। दमोह के बजरिया वार्ड निवासी जिस बुजुर्ग की सागर में मौत की खबर 3 अगस्त को आई थी उसकी जांच रिपोर्ट भी सागर में नेगेटिव निकली थी। लेकिन बाद में उसकी मौत हो जाने पर  उसका भी अंतिम संस्कार स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में किया गया था।
 इसी तरह 3 अगस्त को ही दमोह के जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में इलाजरत जिस बुजुर्ग की मौत हो गई थी उनकी 4 अगस्त को आई सैंपल जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। जिसके बाद कोरोना से मौत होने की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा कब्रिस्तान में उनकों सुर्पुद ए खाक किया गया।  इस तरह आंकड़ों के हिसाब से देखें तो अगस्त माह के तीन दिनों में ही कोरोना मरीजो की एक के बाद एक मौत के चैकाने वाले मामले सामने आ चुके है। हालांकि लगभग सभी मरीजों को कोरोना के अलावा अन्य गंभीर बीमारियां भी थी तथा इनकी आयु 60 वर्ष को पार कर चुकी थी। जिसे ध्यान में रखकर अब बुजुर्गों की सेहत का ख्याल कोरोना के मामले में बहुत ही सतर्कता और सावधानी से रखे जाने की जरूरत महसूस की जाने लगी है। हालांकि जिले में कोरोना से स्वास्थ्य होने वालों की संख्या सवा सौ को पार कर चुकी है ऐसे में कहा जा सकता है कि दमोह जिले में रिकवर रेट काफी अधिक है लेकिन इस दौरान जिन लोगों ने अपनों को खोया है उनकी दुख दर्द को उनसे अच्छा और कौन समझ सकता है।
मंगलवार 4 अगस्त के 18 पॉजिटिव केस की डिटेल..
  दमोह  जिले में आज 18 पॉजिटिव केस सामने आए हैं, इसमें मेल 13 तथा फीमेल 05 मरीज हैं, फीमेल मरीज 23, 34, 40, 65 और 65 वर्ष। मेल मरीज 29, 30, 32, 38, 38, 40, 42, 45, 45, 47, 53, 53 और 54 वर्ष हैं।
  इस प्रकार कच्चा सिंधी कैम्प दमोह से 01, प्रोफेसर कॉलोनी दमोह से 01, बजरिया दमोह से 01, नया बाजार दमोह से 01, मुरली मनोहर वार्ड हटा से 01, खजरी हटा से 01, सिंगपुर से 01, नया बाजार नंबर 04 दमोह से 02, बजरिया वार्ड नं 01 से 01, नया बाजार न. 02 से 01, नया बाजार न. 05 से 01, असाटी वार्ड नं. 01 से 01, तीन गुल्ली दमोह से 01, पठानी मुहल्ला दमोह से 01, जबलपुर नाका दमोह से 01, ओल्ड हाउसिंग बोर्ड सिविल वार्ड नं 07 से 02 मरीज है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संगीता त्रिवेदी ने दी। इसमें एक मरीज की मौत शामिल है।
 अब जबकि 5 अगस्त से अनलॉक थ्री शुरू होने जा रहा है। ऐसे में अब यह बहुत आवश्यक हो गया है लोग स्वयं हर समय सावधानी बरतें। हमेशा मास्क का उपयोग करे, सोशल डिस्टेंस का पालन करें तथा आवश्यकता होने पर ही घरों से निकले एवं झुंड तथा समूह में कहीं भी नहीं रहे। क्योंकि हर समय शासन प्रशासन आपके द्वारा बरती जाने वाली लापरवाही पर नजर रख नहीं सकता तथा किसी भी अप्रिय हालत बनने पर भुगतना स्वयं को पड़ता है तथा परेशान परिजनों तथा शुभचिंतकों को होना पड़ता है ऐसे में एक बार पुनः निवेदन सावधान रहें सतर्क रहें सावधानी और सतर्कता ही कोरोना से बचाव का सबसे बड़ा कवच है..

Post a comment

0 Comments