Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

शहीद मेजर गोरेलाल अहिरवार की प्रतिमा को.. आसाजिक तत्वों द्वारा क्षतिग्रस्त करने से आक्रोष.. अहिरवार समाज संघ, दलित एक्शन कमेटी व अन्य संगठनों ने एसपी को सौंपा ज्ञापन..15 दिनों में पुनः प्रतिमा स्थापित करने की मांग..

 विभिन्न सामाजिक संगठनों ने एसपी को सौंपा ज्ञापन
दमोह। आसामाजिक तत्वों की हरकतों की बजह से अब शहीदों की प्रतिमाए भी सुरक्षित नहीं बची है। पिछले साल बटियागढ़ ब्लाक के खड़ेरी गांव में समारोह पूर्वक स्थापित की गई शहीद मेजर गोरेलाल अहिरवार की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने का मामला सामने आया है। जिसके बाद आक्र्रोषित विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने एसपी आफिस पहुचकर एक ज्ञापन सौंपा तथा 15 दिन में दूसरी प्रतिमा स्थापित कराने की मांग की। 
अहिरवार समाज संघ, दलित एक्शन कमेटी एवं अन्य संगठनों द्वारा सोमवार को पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा गया अहिरवार समाज संघ के जिलाध्यक्ष बीडी बावरा ने जानकारी देते हुए बताया कि दलितों पर अत्याचार थम नहीं रहे है ग्राम खंडेरी में असामाजिक तत्वों के द्वारा शहीद मेजर गोरेलाल अहिरवार की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की गई। गोरेलाल अहिरवार अंबिकापुर में पदस्थ थे 10 अगस्त 2019 को परेड रिहर्सल के दौरान उनका आकस्मिक निधन हो गया था उनके गृह ग्राम खड़ेरी में गार्ड आफ आनर के साथ अंतिम बिदाई दी गई थी। 26 जनवरी को सीआरपीएफ के जवानों ने अनावरण किया था। जिसका असामाजिक तत्वों द्वारा प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया जो शहीदों का अपमान है।
  ऑल इंडिया दलित एक्शन कमेटी जिला अध्यक्ष अशोक अहिरवार ने कहा कि शासन द्वारा खर्च पर पुनः मूर्ति को स्थापित किया जाए और आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए अगर विगत 15 दिनों के अंदर मूर्ति की स्थापना नहीं की जाएगी तो हम लोग सड़कों पर आकर आंदोलन करेंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में बीडी बावरा, अशोक अहिरवार, धर्मेन्द्र रोहित, संजय रोहित सहित बड़ी संख्या में अहिरवार समाज के लोगों की मौजूदगी रहीं। 
उक्त घटना में आक्रोशित ग्रामीणों एवं सर्व अहिरवार समाज के द्वारा एक ज्ञापन जिला कलेक्टोरेट कार्यालय पहुंच कर राज्यपाल के नाम से एक कलेक्टर के लिए भी ज्ञापन सौंप आरोपी को शीघ्र अतिशीघ्र पकड़ने एवं राष्ट्रदोह का मुकदमा दायर करते जाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उक्त शहीद मेजर गोरेलाल अहिरवार की आदमकद प्रतिमा को शहीद के परिजनों के द्वारा स्वयं के व्यय पर स्थापित कराया गया था। 
आगामी 15 दिनों में पुनः दूसरी मूर्ति जिला प्रशासन के द्वारा सा सम्मान स्थापित एवं परिजनों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाए जाने की मांग परिजनों के द्वारा ज्ञापन के माध्यम से की है। अन्यथा की स्थिति में जिला अहिरवार, सूर्यवंशी, जाटव समाज बृहद आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। पुलिस ने घटनास्थल पंचनामा तैयार कर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 256 ,427 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर अज्ञात आरोपियों की तलाश में जुट गई है। वहीं बताया गया कि वॉलीबॉल खेलने के लिए लगाए पाइपों के लिए भी आरोपियों द्वारा ग्रेंडर मशीन से काट लिए गए हालांकि पुलिस ने मामला जांच में लेकर अज्ञात आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

Post a comment

0 Comments