Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

"साकी क्या जोश है तेरे दीवाने में कल जमानत पर छूटा आज फिर थाने में".. पैरोल पर छूटा अरबाज गुंडागर्दी से नहीं आया बाज.. नोहटा थाना पुलिस ने किया गिरफ्तार.. इधर निषेधाज्ञा उल्लंघन पर जिले में कार्यवाही का आंकड़ा आठ सौ के पार..

पैरोल पर छूटा अरबाज गुंडागर्दी से नहीं आया बाज.. 
दमोह। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंस का पालन करने जेलों में बंद अनेक अपराधियों को भी 45 और 60 दिन की पैरोल पर रिहा किया गया है। जिससे वह इस महामारी के दौर में अपने परिजनों के साथ रहकर उनका साथ निभा सकें। दमोह जिले में भी करीब 100 ऐसे बंदियों को जमानत पर घर आने और अपनों का साथ निभाने का मौका मिला है। लेकिन कुछ बदमाशों की स्थिति "कुत्ता की पूछ पुंगरिया में डाली और जब निकाली तो टेढ़ी की टेढ़ी" जैसी बुंदेली कहावत को साबित कर रही है। पिछले दिनों पैरोल पर छूटे एक बदमाश को लाख डाउन में आवारा गर्दी करते कोतवाली पुलिस ने पकड़ा था। वहीं अब नोहटा थाना पुलिस ने एक बदमाश को गुंडागर्दी करते दहशत फैलाते गिरफ्तार किया है।
 "साकी क्या जोश है तेरे दीवाने में कल जमानत पर छूटा आज फिर थाने में".. की कहावत को चरितार्थ करने वाले बदमाश का नाम अरबाज खान बताया जा रहा है। जो कुछ दिन पहले ही जेल से पैरोल पर छूटा था। लेकिन वह फिर गुंडागर्दी करने से बाज नहीं आया बाज। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग आजम खान के घर में घुसकर अरबाज ने दहशतगर्दी फैलाते हुए घर का सामान फेंक कर मारपीट की तथा धमकाते हुए भाग गया  जिसकी रिपोर्ट  नोएडा थाने में पीड़ित द्वारा दर्ज कराये जाने के बाद रात में उसने पुनः आजम के घर में पहुंचकर शराब पीने के लिए 500 रुपये की मांग की। रुपए नहीं मिलने पर क्या-क्या से हमला कर दिया जिसके बाद थाने में  शिकायत दर्ज कराने पर पुलिस ने अरबाज के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया तथा एचपी हेमंत चौहान के निर्देशन में थाना प्रभारी सुधीर जी ने आवाज को हिरासत में लेकर उसकी सारी हेकड़ी उतारने में देरी नही की। 
नोहटा थाना प्रभारी का कहना है अरबाज के खिलाफ पूर्व जिला बदर की कार्यवाही भी हो चुकी है तथा वह जब भी जेल से बाहर आता है लोगों में दहशत फैलाने के साथ बिना वजह चाकू मार देता या किसी के घर में आग लगा देता था। खतरनाक बदमाश को पैरोल पर छूटने के बाद कुछ ही दिनों में दो अपराध पंजीबद्ध होने पर पुनः गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। इस कार्यवाही में सुधीर कुमार बैगी थाना प्रभारी नोहटा, प्रआर अशोक कुमार, आर. कपिल कपिल, आर. सतेंद्र दुबे, आरक्षक देवेंद्र ठाकुर, आरक्षक रवि अगिनहोत्री, तुलसीराम, राजू वास्कले, सैनिक विजय तिवारी की विशेष भूमिका रही पुलिस की इस कार्रवाई से नोहटा में लॉक डाउन के दौरान फिर से सकून लौट आने की बात कही जा रही है।
निषेधाज्ञा उल्लंघन पर फिर दर्ज हुए 84 प्रकरण 
दमोह। धारा 144 कं अंतर्गत निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर पुलिस अधीक्षक हेमंत चैहान द्वारा दिये गये निर्देशों के तहत जिले के विभिन्न थानों में दर्ज प्रकरण की संख्या 800 के पार हो चुकी है। लाक डाउन के दौरान आवारा गर्दी करते नजर आने वालों को पुलिस थानों में लाकर उकड़ू बैठाकर तथा धारा 188 के तहत कार्रवाई करके मुचलका पर छोड रही है। बाद में इस मामले में इन सभी को आंगे भी पेशिया करना पड़ेगी। इसके बावजूद कुछ लोग निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने घरों से निकलने से बाज नहीं आ रहे है। जिससे पुलिस को लगातार कार्रवाई करके इनकों घंटो थाने की हवा खिलाना पड़ रही है।
 इसी कड़ी में गुरूवार को जिले के विभिन्न थानों में कुल 84 प्रकरण पंजीबद्ध कर 99 आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही की गई है। जिसमें  हिण्डोरिया थाना द्वारा 05, रजपुरा 01, मड़ियादो 03, मगरौन 01, थाना कोतवाली द्वारा 16, हटा थाना द्वारा 07, पटेरा 01, कुम्हारी 01, गैसाबाद 01, तेजगढ़ 02, तारादेही 02, रनेह 01, जबेरा 05, पथरिया 06, नोहटा 02, दमोह देहात 27, नोहटा बाहर 01, तेन्दूखेड़ा 01 तथा पटेरा कस्बा में 01 प्रकरण शामिल है। 

Post a comment

0 Comments