Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गढ़ाकोटा सागर से अमानगंज पन्ना पहुंचे मजदूर युवक ने.. क्वॉरेंटाइन सेंटर में फांसी लगाकर जान दी.. मृतक के पिता ने साथी युवक पर मारपीट का आरोप लगाया.. खुदकुशी की बजह बद इंतजाम या विवाद.. ! पुलिस जांच में जुटी..

क्वारंटाइन सेंटर में फांसी की खबर से फैली सनसनी-
पन्ना। मप्र में कोरोनावायरस के संक्रमण को कम करने के लिए बाहरी लोगों को क्वॉरेंटाइन दिए जाने के लिए बनाए गए सेंट्ररो में बुंदेलखंड इलाके में आवश्यक सुविधाओं की कमी के साथ बदतर इंतजाम के हालात सामने आ रहे है। दमोह जिले के पथरिया में एक नाबालिक द्वारा लगाए गए ज्यादती के कथित आरोप और फिर इनसे पलटने के बाद नाबालिक को 8 दिन में ही क्वॉरेंटाइन सेंटर से छुट्टी दे दिए जाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि पन्ना जिले के अमानगंज में सागर के गढ़ाकोटा से आए मजदूर युवक द्वारा फांसी के फंदे पर झूल जाने के घटनाक्रम में लोगों को झकझोर कर रख दिया है।
 प्राप्त जानकारी के अनुसार पन्ना जिले के अमानगंज में स्थित शासकीय महाविद्यालय में बने क्वारंटाइन सेंटर में  मंगलवार दोपहर एक 19 वर्षीय प्रवासी श्रमिक का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिलने से सनसनी फैल गई। मृतक रामलखन उर्फ लख्खू कुशवाहा चार दिन पूर्व ही सागर जिले के गढ़ाकोटा से पांच अन्य श्रमिको के साथ वापस लौटा था। उसने यहां के बदतर इंतजामों की वजह से यह आत्मघाती कदम उठाया अथवा किसी विवाद के चलते इसकी जांच में पुलिस लगी हुई है वहीं पहली नजर में मामला आत्महत्या का बताया जा रहा है।
बताया गया है कि घटारी निवासी रामलखन उर्फ लख्खू  गढ़ाकोटा में अपने गांव के चार-पांच अन्य युवकों के साथ मजदूरी करता था। कोरोना संक्रमण के चलते लाॅकडाउन होने पर ये सभी लोग गढ़ाकोटा में ही कई दिनों तक फंसे रहे। किसी तरह वापस घर लौटने के प्रयास के चलते 24 अप्रैल को को रामलखन के साथ कल्लू साहू, अनिल कुशवाहा, मंजा साहू सभी निवासी ग्राम घटारी एवं सूरज आदिवासी निवासी ग्राम पाठा के साथ अमानगंज पहुंचा था। स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा सभी श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के पश्चात उन्हें अमानगंज काॅलेज भवन में बने क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों के लिये रखा गया था।
मृतक के पिता रामप्रसाद कुशवाहा का आरोप है कि आज सुबह जाओ है  बेटे के लिए नाश्ता ले कर क्वॉरेंटाइन सेंटर गए थे  तब उसने गढ़ाकोटा से साथ में लौटे गांव के ही एक युवक कल्लू साहू द्वारा द्वारा मारपीट किए जाने की जानकारी दी थी। इस बात की जानकारी क्वारंटाइन सेंटर के सफाईकर्मी को देने पर उसने कल्लू साहू को डांटा भी था। पिता ने आशंका जताई है कि शायद इसी वजह से उनके बेटे ने फांसी लगाई है। अमानगंज थाना पुलिस ने इस घटना पर मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पन्ना से वेदप्रकाश द्विवेदी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments