Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मायसेम सीमेंट फेक्ट्री का प्लांट लॉक डाउन में दूसरे दिन बाहर से ताला डाल कर रहा चालू.. पीएम मोदी के 21 दिन के लॉक डाउन ऐलान के बाद चिमनियों का धुंआ थमा.. फेक्ट्री के दलाल बचाव में उतरे.. इधर टीआई के शायराना अंदाज के बाद लॉक डाउन में निकले युवको को उठक बैठक लगानी पड़ी..

लाक डाउन में दूसरे दिन भी मायसेम का प्लांट रहा चालू
दमोह। कलेक्टर जिला मजिस्ट्रेट द्वारा दमोह जिले में 23 मार्च से 25 मार्च तक लाक डाउन के आदेश जारी किए गए थे जिसके तहत समस्त निजी संस्थानों फैक्ट्री आदि  को बंद किए जाने के निर्देश दिए गए थे। इसके बावजूद मायसेम सीमेंट की इकाइयां 23 के बाद 24 मार्च को भी संचालित होती नजर आई।
 इस दौरान इनके खिलाफ किसी प्रकार की प्रतिबंधात्मक कार्यवाही भी करने के लिए कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। वही प्रशासन को गुमराह करने के लिए फैक्ट्री के मेन गेट के बाहर ताला डालकर यह प्रदर्शित किया जाता रहा कि फैक्ट्री बंद है। जबकि मंगलवार की शाम तक फैक्ट्री के प्लांट की चिमनीओं से निकलने वाला धुआं यह प्रदर्शित कर रहा था कि प्लांट चालू है। पूरे मामले को लेकर जब यूनिट हेड निर्दोष कौशिक से बात की गई उनका कहना था कि प्लांट को बंद कराया जा चुका है। 
हालांकि रात 8:00 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में 21 दिन के लॉक डाउन की अपील देशवासियों से करने तथा सभी संस्थानों को अपने कार्य बंद रखने के लिए आदेश देने के बाद मौसम सीमेंट प्लांट भी बंद करा दिया गया लेकिन इसके बाद फैक्ट्री के तथाकथित दलाल प्लांट में सन्नाटा छाए होने की जानकारी सोशल मीडिया पर वायरल करते नजर आए।
लाक डाउन में घूमने वालो की पुलिस ने हैकड़ी उतारी-
दमोह शहर में लाक डाउन के बावजूद अनेक लोग सड़कों पर घूम कर शान बताते नजर आते थे। लेकिन देर रात पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए ऐसे युवकों की हेकड़ी उतारने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हृदय स्थल घंटाघर पर एसडीएम रविंद्र चोकसे, सीएसपी मुकेश अविद्रा की मौजूदगी में टीआई एचचार पांडे ने आवारा घूमते मिले तत्वों को फटकार लगाते हुए उठक बैठक लगवाई और मौजूद मीडियाकर्मियों से उनकी वीडियो बनवा कर सोशल मीडिया पर वायरल करा दी। इसके बाद यह तत्व शर्म के मारे मुंह छुपाते नजर आए।
 सोशल मीडिया पर पहले अपील कर चुके थे टी आई-
कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे से आगाह करते हुए यह टीआई एचआर पांडे ने सोशल मीडिया पर अपना शायराना अंदाज में बयान देते हुए लोगों से लाक डाउन का पालन करने तथा घरों में रहने की अपील की थी। इसके बावजूद जो लोग नहीं माने उनको इस तरह से अब पुलिस की कार्यवाही का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।

Post a comment

0 Comments