Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बाबाजी को प्रशासन ने नहीं दी अखण्ड समाधि की अनुमति.. तेजगढ़ में हिनोती के बाल ब्रह्मचारी बाबा ने.. चार फुट के गड्ढे में तीन दिन के लिए 21 घण्टे की योगासन समाधि ली.. गांव गांव से उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़..

 चार फुट के गड्ढे में तीन दिन की समाधि आरम्भ की
दमोह। तेजगढ़ बस स्टैंड पर स्थित शँकर भगवान के चबूतरे के पास बरगद के पेड़ के नीचे हिनोति के बाल ब्रह्मचारी समाधि बाले बाबा ने तीन दिन की समाधी आरम्भ की जिसकी शोभायात्रा निकाली गई। रामधुन कीर्तन सहित बरगद के पेड़ के नीचे चार फुट गहरे, तीन फुट चोड़े गड्ढे में समाधि आरम्भ की जो सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक ब्रम्हलीन रहेंगे।
समाधि बाले बाबा का कहना है की मेरी जन्मभूमि का नाम हिनोति है। अब तेजगढ़ मैं बरिया के पेड़ के नीचे समाधि में बरसेंगे हीरे मोती। बोला कि करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान,ग्राम हिनोति में प्रगट हुए थे समाधि में भगवान।और गड्ढे में बैठकर ब्रम्हलीन सम्माधि ले ली। बाबा ने बताया कि हमने 3 बार पहले समाधि ली है जो अखण्ड समाधि ली है।एक बार समाधि के ऊपर जवारे बोये थे। ओर एक बार ग्राम पंचायत पतलोनी में माता शारदा देवी मंदिर में भी समाधि ली है। यह चौथी बार समाधि  हैं ओर अब सरकार से अखण्ड समाधि के लिए परमिशन नही मिलता है। जिससे साधरण समाधि ली है जो शुक्रवार तक चलेगी
 गौरतलब है कि चार फुट गहरे ओर तीन फुट चोड़े गड्ढे में समाधि लेना सबके बस की बात नही है। तेजगढ़ में समाधि बाले बाबा को देखने लोगो की भारी संख्या में भीड़ लगीं रही थी। साथ साथ मे भजन कीर्तन ओर सम्माधि बाले बाबा की जय कारे लोग लगा रहे । पतलोनी निवासी राजू दुबे ने बताया कि हिनोती के समाधी बाले बाबा ने 3 दिन में 21 घण्टे की रहेगी। सात घंटे 3 दिन तक गड्ढे मैं  एक जगह योगासन लगाकर बैठना सबके बस की बात नहीं है। 

 तेजगढ़ थाना प्रभारी केके तिवारी ने भी बताया है कि बाबा पहले भी समाधि ले चुके है। जिसमे तेजगढ़, हर्रई, पतलोनी, हिनोती, करौंदी, पड़रिया, सांगा, सुनवाई, समदई सहित तेजगढ़ छेत्र के लोगो की उपस्थिति रही। धनकुमार विश्वकर्मा की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments