Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कोरोना के लॉक डाउन में.. जिला जेल से 15 बंदियों की रिहाई, 41 को जल्द मिलेगी पैरोल.. इधर तीन फरार बदमाशों की गिरफ्तारी पर 13 हजार का इनाम.. सावधान.. शहर की सड़कों पर रात में निकलने वालो की खैर नही..

 जेल से 15 बंदियों की रिहाई, 41 बंदियों को जल्द पैरोल
दमोह। देश दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु जहां आम जनमानस की भीड़ को कम करने के लिए लाक डाउन के अलावा लोगों के बीच में दूरियां बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं इसी कड़ी में  विभिन्न जेलों से कम सजा वाले बंधुओं को पैरोल पर रिहा करने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। दमोह जिला जेल से 5 साल की कम सजा वाले 15 बंदियों की 45 दिन के लिए रिहाई कर दी गई है वही जल्द ही 41 अन्य बंदियों को 60 दिन के लिए रिहा किया जाएगा।
दमोह जिला जेल से सोमवार की शाम बारी बारी से बाहर आते इन 15 बंदियों को राज्य शासन की मंशा के अनुरूप पैरोल पर रिहाई दी गई है। दरअसल यह बंदी जिनमें 14 पुरुष एक महिला शामिल है इनमें 12 लोग 5 साल से कम सजा वाले जेल बंदी थे। जिन को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु 45 दिनों के लिए जेल से रिहाई दे दी गई है। वही 151 में बंद तीन लोगों को जमानत पर छोड़ दिया गया है। मामले में जेलर एनएस राणा ने बताया कि जल्द ही 41 आदमियों को भी 60 दिनों के लिए पैरोल पर छोड़ने की कार्यवाही की जा रही है जिला जेल से 56 बंदियों की संख्या फिलहाल कम हो जाएगी।
तीन बदमाशों की गिरफ्तारी पर 13 हजार का इनाम-
इधर कोरोना संक्रमण काल में भी फरार अपराधियों की गिरफ्तारी पर इनाम घोषणा का दौर जारी है। दमोह एसपी हेमंत कुमार चौहान द्वारा तीन ऐसे ही फरार बदमाशों पर 13 हजार के इनाम की घोषणा की गई है जो लंबे समय से विभिन्न प्रकरणों में फरार चल रहे हैं।
पुलिस अधीक्षक श्री चौहान ने अपराध क्रमांक 571/16 धारा 420,406 ताहि के प्रकरण में महाराणा प्रताप स्कूल के पास शोभा नगर कालोनी दमोह निवासी अनिल पिता मंगल सोनकर उम्र 55 साल पर 05 हजार रूपये,  अपराध क्रमांक 100/2020 धारा 376ए, 376 बी, 506 ताहि 5/6 पास्को एक्ट  के प्रकरण में ग्राम बांसाकला थाना पथरिया निवासी प्रदीप पिता रमेश पाठक पर 05 हजार रूपये तथा अपराध क्रमांक 19/2020 धारा 353,332,307,186,34 ताहि के प्रकरण में बांसी थाना तारादेही झब्बू पिता गुमान सींग यादव उम्र 57 साल पर 03 हजार रूपये  का ईनाम घोषित किया है।
 जो कोई व्यक्ति विधि संगत शक्तियों का प्रयोग कर आरोपीगणों को गिरफ्तार करेगा, करवायेगा या ऐसी सूचना देगा जिसके आधार पर उसकी गिरफ्तारी संभव हो सके, ऐसे सूचनाकर्त्ता को आरोपी पर घोषित राशि से पुरूष्कृत किया जायेगा। पुरूस्कार वितरण के संबंध में पुलिस अधीक्षक का निर्णय अंतिम एवं सर्वमान्य होगा।
 रात में सड़कों पर भूलकर भी नहीं निकले.. नहीं तो..
कोरोना केला डाउन के बीच दिन के समय 3 घंटे की आवश्यक वस्तुओं की खरीदी हेतु मिलने वाली छूट के बावजूद कतिपय लोग अन्य समय में भी सड़कों पर विचरण करने से नहीं चूकते हैं ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस जहां सख्ती से पेश आने लगी है वही आने वाले दिनों में पुलिस का यह रवैया और भी कठोर हो सकता है इधर रात्रि के समय प्रमुख सड़कों चौराहों के अलावा सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी सड़कों पर निकलने वालों को पर नजर रखी जा रही है।
 वही लोकेशन मिलते ही पुलिस सड़कों पर बाइकों से घूमने वालों पर शिकंजा कसने से नहीं चूक रही है ऐसे में होने वाली बेइज्जती से बचने के लिए समझदारी इसी में है कि घरों से लोग ना निकले नही तो पुलिस के डंडे का भरपूर सानिध्य प्राप्त होने जैसे हालात भी बन सकते हैं.. अभिषेक जैन के साथ अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments