Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गणतंत्र दिवस की पूर्व बेला में रिश्वतखोर प्रभारी तहसीलदार एवं दलाल पर लोकायुक्त का शिकंजा.. रेत का ट्रेक्टर छोड़ने के एवज में.. 25000 की रिश्वत लेते सागर लोकायुक्त ने दोनों को रंगे हाथों पकड़ा..

तहसीलदार व चौकीदार पर सागर लोकायुक्त का शिकंजा 
पन्ना। गणतंत्र दिवस की पूर्व बेला में सागर लोकायुक्त की टीम ने रिश्वतखोर नायव प्रभारी तहसीलदार पर शिकंजा कसते हुए ₹25000 की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है। लोकायुक्त द्वारा मध्यस्था करने वाले एक दलाल नुमा चौकीदार पर भी शिकंजा करते हुए उसके खिलाफ भी कार्यवाही की गई है। दिनों आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की जा जारी है।
दरअसल ये पूरा मामला रेत से भरे एक ट्रैक्टर को पकड़े जाने के बाद छोड़ने से जुड़ा हुआ है। आवेदक ब्रज बिहारी प्रजापति निवासी ग्राम सिली, तहसील गुन्नौर जिला पन्ना द्वारा पुलिस अधीक्षक विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त कार्यालय, सागर को शिकायत में बताया था कि उसका रेत का ट्रेक्टर छोड़ने के एवज में रविशंकर शुक्ला, नायब तहसीलदार/प्रभारी तहसीलदार, गुन्नौर द्वारा 40,000 रूपए की मांग की जा रही है।
 जिसके बाद लोकायुक्त टीम ने अपना जाल बिछाते हुए शनिवार सुबह चौकीदार देवीदयाल दहायत के जरिए  25 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रविशंकर शुक्ला, नायब तहसीलदार/प्रभारी तहसीलदार, तहसील गुन्नौर जिला पन्ना को तहसील परिसर गुन्नौर स्थित आवास पर पकड़ने में देर नही की। लोकायुक्त द्वारा दोनों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। बताया जा रहा है कि देवीदयाल बीच में मध्यस्थ बनकर लेनदेन की बात करता था। गणतंत्र दिवस की पूर्व बेला में हुई इस कार्रवाई के बाद रिश्वतखोरो के बीच हड़कंप के हालात बने हुए है। वहीं कुछ लोग रेत माफिया के इशारे पर नायब तहसीलदार को फसाए जाने की चर्चा करते हुए भी नजर आ रहे है।

Post a comment

0 Comments