Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सागर झांसी हाईवे पर जींस शर्ट पहने मृत मिली युवती दमोह जिले की निकली.. नोहटा से वापिस लौटते समय वाइक हादसे में युवती की मौत हो जाने पर.. अहमदाबाद भाग गए प्रेमी युवक को बांदरी थाना पुलिस ने बीना से पकड़ा..

सागर झांसी हाईवे पर मृत मिली युवती दमोह की निकली
सागर/दमोह। सागर झांसी हाईवे पर एक सप्ताह पूर्व बांदरी थाना अंतर्गत सड़क किनारे मिले जींस टीशर्ट पहने मिली अज्ञात युवती की मौत की गुत्थी पुलिस ने सुलझाते हुए उसके बारे में पतासाजी करने और आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। मृतक युवती दमोह जिले की निवासी निकली है। जिसकी गुमशुदगी और अपहरण की रिपोर्ट 8 माह पूर्व नोहटा थाने में दर्ज कराई गई थी।
सागर झांसी हाईवे पर बांदरी थाना अंतर्गत करीब 20 वर्षीय युवती का शव हाइवे किनारे 21 दिसंबर को मिलने पर सनसनी के हालात निर्मित हो गए पुलिस ने मर्ग कायम करते हुए डॉक्टरों की पैनल पोस्टमार्टम कराते हुए आसपास के जिलों में मृतिका के बारे में पतासाजी शुरू की। इधर घटनास्थल पर किसी गाड़ी की टूटी हुई लाइट पड़ी होने से आसपास के गाड़ी सुधारको तथा एजेंसी पर भी पतासादी की गई। जिसके बाद पुलिस को मालथौन निवासी धर्मेंद्र रजक के बारे में जानकारी लगी की वह अहमदाबाद में मिस्त्रिगिरी का काम करता है तथा इसलिए कि एक युवती के साथ मालथौन में देखा गया था। जिस पर पुलिस उसकी मोबाइल लोकेशन को लगातार प्रयास करती रही 2 दिन पूर्व उसकी लोकेशन भोपाल में मिलने पर पुलिस ने उसे स्टेशन पर दबोच लिया और सागर लेकर आ गई।
बांदरी थाना प्रभारी रवि भूषण पाठक ने बताया कि धर्मेंद्र रजक पूछताछ करने पर उसने बताया कि उपरोक्त युवती दमोह जिले के अभाना के समीप एक गांव की निवासी थी तथा वह भी दिल्ली में अपने चाचा के साथ  रहती थी। उससे उसके प्रेम संबंध थे तथा वाह उससे शादी करना चाहता था इसलिए उसे दिल्ली से मालथौन लाने के बाद मोटरसाइकिल से उसके गांव दमोह जिले के खमरिया ले गया था। लेकिन गांव पहंचने के पहले ही युवती ने यह कहकर वापिस चलने को कहा कि घर वाले शादी को तैयार नहीं होगे। जहां से वापस मालथौन लौटते समय रजवास चौकी के समीप उसकी बाइक को ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे वह दोनों डिवाइडर से टकराकर सड़क से दूर फिक गए। 


बाद में होश आने जाने पर जब युवती को होश नहीं आया तो वह डर गया तथा मोटरसाइकिल मालथौन में लाकर घर में एक्सीडेंट की जानकारी देकर अहमदाबाद चला गया। बांदरी थाना पुलिस ने उपरोक्त बयानों के आधार पर आरोपी धर्मेंद्र रजक के खिलाफ धारा 304 ए तथा एक्सीडेंट एक्ट अन्य धाराओं में मामला पंजीबद्ध कर के मृतक युवती के फोटो भेजकर युवती के बारे में नोहटा थाना पुलिस को सूचना दी गई। जिस पर मृतक युवती की पहचान नेहा यादव के तौर पर होने के 12 अप्रैल 2019 को उसकी गुमशुदगी तथा अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धारा 363 का अपराध पंजीबद्ध होना पाया गया। 
हाईवे किनारे मिले अज्ञात युवती की मौत की गुत्थी सुलझाने तथा आरोपी को पकड़ने में बांदरी थाना प्रभारी रवि भूषण पाठक प्रशिक्षु उप निरीक्षक सुनील शर्मा रजवास चौकी प्रभारी ASI के भारद्वाज आरक्षक राजेश वीरेंद्र संतोष और कमलेश की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Post a comment

0 Comments