Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जिला अस्पताल में चिकित्सकों की टीम ने किया कमाल.. गरीब परिवार के बच्चें की अहारनली में फसे पांच रूपए के सिक्के को.. एंडोस्कोपी आपरेशन करके बाहर निकाल कर बचाई जान..

 अहारनली में फस गए सिक्के को निकाल जान बचाई-
दमोह। लंबे समय से अव्यवस्थाओं के लिए बदनाम जिला अस्पताल में हुए तारीफे काबिल कार्य ने यहां पदस्थ चिकित्सकों की काबिलयत का अनुपम उदाहरण पेश किया है। वहीं यहां आने वाले गरीब मजबूर परिवारों की आशा और विश्वास को भी बढ़ाया है। मामला एक मासूम बच्चें की आहार नली में फस गए पांच रूपए के सिक्के का है। जिसे बाहर निकवाने के लिए जिले के बाहर बड़े अस्पताल में ले जाने का न समय था और न परिजनों के पास इतने रूपए और साधन ही कि वह तत्काल बच्चें को जबलपुर या नागपुर ले जाते। वहीं आखरी उम्मीद के तौर पर बच्चें को लेकर जिला अस्पताल पहंचे परिजनों का भरोसा तब फलीभूत होत नजर आया जब चिकित्सकों ने एंडोस्कोपी द्वारा सिक्के को समय रहते बाहर निकालकर बच्चें की जान बचाने मे सफलता हासिल कर ली।
दमोह के इन्द्रा कॉलोनी निवासी राजेंद्र लोधी के बेटे समर ने खेल खेल में पांच रूपए का सिक्का मुंह में लेने के बाद उसे गुटक लिया। जिसके बाद सिक्के के गले के रास्ते आहरनली में फस जाने पर परिजन बच्चें को  लेकर जिला अस्पताल पहंचे। जहां पहले तो कुछ कर्मचारी बच्चें को जबलपुर ले जाने की सलाह देते नजर आए वहीं मामला सिविल सर्जन ममता तिमोरी एवं आरएमओ दिवाकर पटेल की जानकारी में आने पर उन्होंने जिला अस्पताल में ही बच्चें के गले से सिक्का बाहर निकालने के लिए उपचार के इंतजाम शुरू कराए। डाँ सुधीर आर्य द्वारा ईएनटी शल्य चिकित्सक के साथ निश्चेतना चिकित्सक डॉ अल्का सोनी एवं सहयोग हेतु स्टॉफ नर्स पुष्पा परते ने संयुक्त रूप से प्रयास करते हुए बच्चें की भोजन नली मे फंसे पांच के सिक्के को एंडोस्कोपी द्वारा बाहर निकालने में सफलता प्राप्त कर ली।

 जिसके बाद बच्चें के परिजनों के अलावा अस्पताल में मौजूद अन्य मरीजों के परिजन भी चिकित्सक दल के साथ अस्पताल प्रबंधन को धन्यवाद देता प्रशंसा करता नजर आया। दमोह के जिला अस्पताल मे आम जरूरत मंद मरीजों को आगे भी इस तरह से जटिल उपचार की सुविधा हेतु योग्य चिकित्सकों की टीम आगे आकर ऐसे ही कार्य करती रहे इन्हीें भावनाओं के साथ पूरे जिला अस्पताल परिवार को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाए। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments