Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

महिला पुलिस कर्मी की बहिन को.. गोली मारने की 5 लाख की सुपारी दिलाने वाले.. फरार आरोपी मोनू पाराशर पर पुलिस का शिकंजा.. नरसिंहगढ़ में सवा दो महीने पहले नन्द ने कराई थी भाभी की हत्या..

सुपारी दिलाने वाले फरार आरोपी पर पुलिस का शिकंजा
दमोह। देहात थाना के नरसिंहगढ़ में सवा दो माह पहले महिला पुलिसकर्मी की बहिन आरती पति ववलू तिवारी की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बाद में पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा करते हुए मृतिका की नन्द अनिता अवस्थी को हिरासत में लिया था। अनिता ने अपनी भाभी की हत्या कराने के लिए मोनू पाराशर नाम के बदमाश के जरिए रायसेन जिले के कुख्यात बदमाश निगम सिंह धाकड़ को 5 लाख की सुपारी दी थी।
 पुलिस इस चर्चित मामले में 4 आरोपीयो को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। पांचवे फरार आरोपी सुपारीबाज मोनू पाराशर की गिरफ्तारी पर एसपी विवेक सिंह ने 10 हजार का इनाम घोषित किया था। जिसे मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने स्टेशन से गिरफ्तार करने के बाद बुधवार को मीडिया को जानकारी दी।
 सीएसपी मुकेश अबिद्रा ने बताया देहात थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम नरसिंहगढ़ में 18 जून को आरती तिवारी की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या करने के मामले में आरोपी को पुलिस ने रेल्वे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया है आरोपी के रुपए खर्च हो जाने बाद वापस घर आ रहा था इस बीच पुलिस ने उसे दबोच लिया इसे एक दिन की रिमांड पर लेकर पूंछतांछ की जा रही है। इस पूरी कार्रवाई में टीआई एचआर पांडे, नरसिंहगढ़ चौकी प्रभारी विक्रम दांगी आरक्षक मनीष गंधर्व, नवीन, देवेंद्र ठाकुर, भानु उपाध्याय, राकेश दाहिया, आकाश पाठक, साइबर सेल प्रभारी राकेश अठया, सौरभ टंडन, अजित दुबे सहित देहात थाना पुलिस का विशेष योगदान रहा है. 

उल्लेखनीय है कि मोनू पाराशर की गिरफ्तारी के पूर्व  चार आरोपी निगम सिंह धाकड़ सुनवानी रायसेन,  नरसिंहगढ़ निवासी अनीता अवस्थी, बतियागढ़ निवासी नफीस खान तथा दमोह निवासी राजा ठाकुर जेल भेजे जा चुके है। इस हत्याकांड के एक और मुख्य आरोपी रायसेन निवासी रवि परमार की गिरफ्तारी फिलहाल पुलिस के लिए चुनोती बना हुआ है। सभी के खिलाफ नरसिंहगढ़ चौकी में धारा 302, 120 वी, 34 तथा 25/27 के तहत मामला पंजीवद्घ किया गया था।

Post a comment

0 Comments