Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

भाभी की जान की दुश्मन बनी नन्द.. पारिवारिक विवाद में गई थी महिला आरक्षक की बहिन की जान..पांच लाख की सुपारी देने वाली नंद गिरफ्तार.. प्रॉपर्टी के साथ पारिवारिक विवाद बना हत्या की बजह..

प्रॉपर्टी के साथ पारिवारिक विवाद बना हत्या की बजह-
दमोह। नरसिंहगढ़ क्षेत्र में महिने भर पहले दिन दहाड़े घर में घुसकर एक महिला आरक्षक की बहिन की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने के सनसनीखेज घटनाक्रम का चौकाने वाला खुलासा सामने आया है। पुलिस ने इस अंधेहत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने का दावा करते हुए मृतका की सगी ननद को हत्या कराने के लिए पांच लाख की सुपारी देने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है।
एसपी विवेक सिंह ने रविवार शाम मीडिया के समक्ष बारदात से जुडे अहम पहलु का खुलासा करते हुए बताया कि पारिवारिक विवाद के चलते नन्द ने ही अपनी भाभी की हत्या भाड़े के हत्यारों को सुपारी देकर कराई थी। हालांकि पुलिस गिरफ्त में आने के बाद भी आरोपी महिला इस बात से इंकार कर रही है कि उसने हत्या कराने के लिए सुपारी या 5 लाख लाख की रकम देने बात की थी। जबकि एसपी विवेक सिंह ने अपने खुलासे में बताया है कि किसी मोनू पाराशर के जरिए पांच लाख में हत्या की सुपारी दी गई थी। पकड़ी गई आरोपी अनिता अवस्थी शिक्षिका है। जबकि मृतिका बबलू तिवारी की पत्नि आरती की बहिन दमोह में पुलिस आरक्षक थी। 
आपकों बता दे कि 18 जून को दिनदहाड़े हुई इस बारदात के बाद जबलपुर में आरती तिवारी की मौत हो गई थी। बारदात के बाद पुलिस ने जनसहयोग से निगम सिंह नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। जिसके द्वारा भी पुलिस पूछताछ में गुमराह करने का प्रयास किया जाता रहा। वहीं अब पुलिस मोनू पाराशर की तलाश में जुट गई है। 
हत्या के इस अंधे खुलासे में सीएसपी मुकेश अविद्रा के निर्देशन में देहात थाना टीआई एचआर पांडे तथा नरसिंहगढ़ पुलिस चौकी की टीम की अहम भूमिका रही है। प्रार्पटी के विवाद के चलते आपसी रिश्तों में आने वाली खटास किस तरह जानी दुश्मन जैसे हालात निर्मित कर देते है तथा अपने ही अपनों के दुश्मन बन कर हत्या कराने तक से पीछे नहीं हटते। ऐसे ही इस मामले के खुलासे के बाद स्थानीय लोग इस घटना की मूल बजह प्रापर्टी को लेकर चल रहा पारिवारिक विवाद ही बता रहे है।अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments