Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नेता प्रतिपक्ष के गृह क्षेत्र के कोचिंग सेंटरों में.. दमोह जिले के सरकारी स्कूलों में पदस्थ शिक्षक पढ़ाते हुए मिले.. तहसीलदार की छापामार कार्रवाई में मामला उजागर होते ही मचा हड़कंप..

दमोह के शिक्षक गढ़ाकोटा के कोचिंग सेंटर में पढ़ाते मिले
दमोह जिले के सरकारी स्कूलों में पदस्थ कुछ शिक्षक भले ही बच्चों को पढ़ाने के लिए समय पर साला उमर नहीं पहुंचते हो लेकिन निजी कोचिंग संस्थानों का संचालन समय पर करने से नहीं चूकते हैं। ऐसे ही कुछ सरकारी शिक्षकों द्वारा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष  गोपाल भार्गव के गृह क्षेत्र गढ़ाकोटा में कोचिंग सेंटर संचालित किए जाने का घटनाक्रम उजागर होने से कोचिंग कराने वाले सरकारी टीचरों में हड़कंप के हालात बने हुए हैं।
सागर कलेक्टर द्वारा जिले में शासकीय शिक्षकों द्वारा कोचिंग नहीं करने के आदेशो के बाद आज गढ़ाकोटा नगर में तहसीलदार संगीता मेहतो और संकुल प्राचार्या श्रीमती अरुणा शास्त्री सुभाष वार्ड में संचालित  कोचिंग सेंटरों का औचक निरीक्षण करने पहुची। निरीक्षण में इन कोचिंग सेंटर का अवैध संचालन  पाए जाने के साथ ही यहां बच्चों को पढ़ा रहे शिक्षक भी सरकारी मिले। दो शिक्षक तो दमोह जिले में पदस्थ रहते हुए कोचिंग सेंटर संचालित कर रहे थे। जिसमें निर्मल जैन सतौआ ग्राम के माध्यमिक शाला में एवं आनंद सोनी ग्राम झागर के माध्यमिक शाला में अध्यापक के पद पर पदस्थ हैं। 
यह दोनों अपनी शालाओं में पढ़ाने कब जाते हैं इसका तो पता नहीं लग सका है। लेकिन अधिकारियों की छापामार कार्रवाई के दौरान यह दोनों कोचिंग सेंटर में बच्चों को पढ़ाते हुए रंगे हाथों पकड़े गए। जिस पर तहसीलदार ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। रँगे हाथो पकड़े जाने के बाद शिक्षको ने बच्चों को निशुल्क अध्यापन की बात करके बचने का प्रयास भी किया। जबकि अभिभावकों का कहना था की मोटी रकम लेकर कोचिंग में शिक्षा दी जा रही है। 
निरीक्षण के बाद तहसीलदार सुश्री संगीता मेहतो ने बताया की निरीक्षण कार्यवाही उच्च आधिकारियों को प्रेषित की जा रही है। वही इस संदर्भ में दमोह के जिला शिक्षा अधिकारी श्री रवि बघेल से चर्चा की गई तो उनका कहना था की गढ़ाकोटा से निरीक्षण प्रतिवेदन आतेे ही संबंधित शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गढ़ाकोटा से रवि सोनी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments