Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गैसाबाद में सीमेंट फैक्ट्री के बाद CM कमलनाथ दमोह को मेडीकल कालेज की सौगात जल्द देंगे.. विधायक राहुल सिंह व इंडिया सीमेंट के अधिकारी मीडिया से रूवरू हुए, ढाई साल में कंपलीट होगी नई सीमेंट फैक्टरी..

पत्रकार वार्ता में सीमेंट फैक्ट्री के संबंध में दी जानकारियां 
दमोह। जिले के गैसावाद क्षेत्र में नई सीमेंट फैक्टरी की मंजूरी के बाद इसके लिए भूमि के अधिग्रहण की कार्रवाई तेज हो गई है। स्थानीय निवासियों के साथ हटा वासियों के अलावा जिले के कांग्रेस नेताओं में नई फैक्टरी को लेकर गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं जिले का आम नागरिक भी इस नए सीमेंट संयत्र के स्थापित होने से विकास एवं रोजगार को लेकर अनेक अपेक्षाए लगाने लगा है। इन सब हालातों के बीच इंडिया सीमेंट के वरिष्ठ अधिकारी आज दमोह विधायक राहुल सिंह के आवास पर मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए।
 इस मौके पर विधायक राहुल सिंह ने भरोसा जताया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जल्द ही दमोह जिले को मेडिकल कालेज की सौगात भी देने जा रहे है। विधायक राहुल सिंह ने कहा है कि कांग्रेस के पूर्व सांसद व तत्कालीन राष्ट्रपति बीबी गिरी के बेटे शंकर गिरी के कार्यकाल में 1970-75 में जिले को नरसिंहगढ़ में सीमेंट फैक्ट्री की सौगात मिली थी। तब से अब तक युवाओं के रोजगार के सार्थक प्रयास किसी भी जनप्रतिनिधि ने नहीं किये और अब मप्र में कमलनाथ सरकार ने 6 माह में गैसाबाद में सीमेंट फैक्ट्री की बुनियाद डाल दी। 
    उन्होंने कहा मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने कहा है कि इन्वेस्टर्स मीटिंग के पहले यह सीमेंट फैक्ट्री उनका ड्रीम मॉडल है। श्री सिंह ने कहा मेसर्स स्प्रिगवे माईनिंग प्राईवेट लिमिटैड के अधिकारियों नरेश रेड्डी, यतीन्द्र शाह सीनियर वाईस प्रसिटेन्ट ने कहा है कि दमोह एवं पन्ना में जमीन एवं पत्थर का सर्वे किया जा चुका है। सारी तैयारियां हो चुकी है, कुछ दिनों बाद शिलान्यास हो जायेगा और परियोजना दिसम्बर 2022 तक वाणिज्यिक उत्पादन प्रारंभ होने की संभावना है।
इस अवसर पर मेसर्स स्प्रिगवे माईनिंग प्रा. लि. द्वारा ग्राम गैसाबाद में इंटीग्रेटेड सीमेंट प्लांट की स्थापना हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत किए जाने के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों ने विस्तार से जानकारी दी। प्रथम चरण में 1.5 मिलियन टन क्षमता का ड्डक्लकर एवं 2.20 मिलियन टन प्रतिवर्ष क्षमता के सीमेंट प्लांट की स्थापना लगभग रूपये 1400 करोड के स्थाई पूंजी निवेश से किया जाना प्रस्तावित है। परियोजना में दिसम्बर 2022 तक वाणिज्यिक उत्पादन प्रारंभ होने की संभावना है। कंपनी द्वारा 125 हैक्टेयर भूमि पर 2.20 मिलियन टन प्रतिवर्ष क्षमता की ग्रीन फील्ड सीमेट परियोजना स्थापना प्रस्तावित है। कंपनी द्वारा केप्टिव उपयोग हेतु ग्राम कोलखरिया, तहसील-पवई जिला पन्ना में लगभग 499 हेक्टेयर भूमि लीज पर ली गयी है। मेसर्स स्प्रिगवे माईनिंग प्रा.लि. मेसर्स इंडिया सीमेंट लि. की सहायक कंपनी है। इंडिया सीमेंट लि. भारत में एक प्रमुख सीमेंट निर्माण कंपनी है इसकी स्थापना वर्ष 1946 में हुई थी। पहला सीमेंट प्लांट वर्ष 1949 में तमिलनाडू में स्थापित किया गया था। कंपनी के तमिलनाडू, तेलंगाना, राजस्थान और आंध्रपद्रेश में आठ एकीकृत सीमेंट प्लांट एवं दो सीमेंट ग्राइडिंग के पूंजी निवेश से सीमेंट ग्राइंडिंग यूनिट स्थापित की जा रही है।
इस सीमेंट इकाई की स्थापना को लेकर गैसावाद क्षेत्र में जबरजस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। कंपनी के अधिकारियों के क्षेत्र में पहुंचते ही लोग उनकों आसपास का भ्रमण कराकर जानकारी देते नजर आ रहे है। परियोजना से राज्य/क्षेत्र को प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष लाभ होना संभावित है। बुन्देलखंड जैसे पिछड़े क्षेत्र में बडी संख्या में रोजगार का सृजन एवं स्किल डेव्हलपमेंट, क्षेत्र का आर्थिक एवं सामाजिक विकास होगा, शासन को विभिन्न करों के माध्यम से राजस्व प्राप्ति होगी, सी.एस.आर. अंतर्गत किये जाने वाले कार्यो से स्वास्थ्य, शिक्षा एंव रोजगार क्षेत्र मे आवश्यक सुधार होगा, सहायक उद्वयोगो का विकास होगा, थर्मल पावर से निकलने वाली फ्लाईएश का उपयोग इकाई में होने से फ्लाई ऐश निपटान की समस्या का समाधान होगा। 
कम्पनी के अधिकारियों ने बताया कि परियोजना में लगभग 350 व्यक्तियों को प्रत्यक्ष रोजगार एवं 2000 व्यक्तियो को अप्रत्यक्ष रोजगार प्राप्त होगा, इसके अतिरिक्त परियोजना के क्रियान्वयन से फलस्वरूप क्षेत्र में अन्य आर्थिक गतिविधियों यथा खनन, परिवहन, दूरसंचार, खान-पान, होटल, मनोरंजन के साधन, रहवासी तथा वाणिज्यिक भवनों इत्यादि के प्रांरभ होने से बडी संख्या में लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार प्राप्त होगा। 
इस अवसर पर पत्रकार वार्ता में जिला कांग्रेस के संगठन प्रभारी सतीश जैन, शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल ठाकुर, जिला प्रवक्ता आशुतोष शर्मा, विधायक प्रतिनिधि पवन गुप्ता, प्रफुल्ल श्रीवास्तव, दीपक मिश्रा, धमेन्द्र राय, वीरेन्द्र चौबे, राव लखन सिंह, मिक्की चंदेल, रफीक खान, जया ठाकुर, अजय सरवरिया, राबी चौरसिया सहित कम्पनी के पदाधिकारी और अधिकारी मौजूद थे।

Post a comment

0 Comments