Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

फुटेरा तालाब रेल लाइन के पास रिटायर DEO के अतिथि शिक्षक बेटे की ट्रेन से टकराकर मौत.. खुदकुशी की या हादसा हुआ ..? पुलिस जांच में जुटी..

रेलवे लाइन पर मिला शव, पुलिस जांच में जुटी..
दमोह। फुटेरा रेलवे फाटक के आगे तालाब साइड में ट्रैन से टकराकर एक युवक की मौके पर ही मौत हो जाने का दर्दनाक घटनाक्रम सामने आया है। घटना स्थल से कुछ दूरी पर बाइक खड़ी पाई गई। जिसके नंबर के आधार पर मृतक की पहचान रिटायर शिक्षा अधिकारी प्यारेलाल शर्मा के बेटे अभिषेक शर्मा अभी के तौर पर हुई है। 
शुक्रवार दोपहर शहर के फुटेरा रेलवे फाटक से थोड़ी दूरी पर चलती हुई ट्रेन से टकराकर एक युवक की मौत हो जाने पर मौके पर लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई।घटना स्थल पर मोबाइल पड़ा हुआ था वही रेल लाइन के पास चप्पल पड़ी थी और एक बाइक खड़ी  थी। 
स्थानीय लोगों द्वारा बाइक क्रमांक MP 34 MF 8144 के आरटीओ रजिस्ट्रेशन को चैक किया गया तो अभिषेक शर्मा पिता पीएल शर्मा निवासी एसपीएम नगर के नाम पर गाड़ी होंना पाया गया। बाइक में वेदांत और अभी लिखा हुआ था। घटना की जानकारी लगने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उपरोक्त रजिस्ट्रेशन के आधार पर शर्मा परिवार से जुड़े लोगों को सूचना दी गई।
जिसके बाद मौके पर पहुंचे परिजनों ने मृतक की पहचान अभिषेक शर्मा के तौर पर की। पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए सब को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया है। इधर घटना के तत्काल बाद सोशल मीडिया, व्हाट्सएप ग्रुपो में उपरोक्त हादसे से जुड़ी फोटो वायरल होते ही अभिषेक के अनेक परिचित और मित्र दुर्घटनास्थल पर पहुंच गए थे।
घटनास्थल पर हृदय विदारक नजारे के साथ दुखी मित्रो तथा परिचितों को यह भरोसा ही नहीं हो रहा था की हर दिल अजीज हमेशा मुस्कुराते रहने वाला अभिषेक शर्मा अब हमारे बीच में नहीं है। अभिषेक की मौत को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं उसने खुदकुशी की अथवा हुआ हादसे का शिकार हुआ उसका पता पुलिस जांच के बाद ही लग सकेगा। 
मौके पर बाइक के रेल लाइन किनारे मिलने तथा रेल लाइन पर मोबाइल भी पड़ा होने से यह आशंका भी जताई जा रही है कि किसी से मोबाइल पर बात करते हुए चलती ट्रेन की चपेट में आ जाने से यह हालात निर्मित हुए होंगे। 
अभिषेक शर्मा अतिथि शिक्षक के तौर पर कार्यरत था। उसके पिता पीएल शर्मा शिक्षा विभाग से रिटायर होने के बाद सरस्वती शिशु मंदिर में व्यवस्थापक के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। वही अभी का एक छोटा सा बेटा वेदांत भी है। जिसका नाम अपने पापा के नाम साथ बाइक पर लिखा हुआ है। 
शिक्षा जगत से जुड़े शर्मा परिवार में हुए इस दुखद हादसे ने सभी को हतप्रद करके रख दिया है। परमपिता परमेश्वर अंतर आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे तथा परिजनों को यह गहन दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ओम शांति शांति शांति.. 
अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट 

Post a comment

0 Comments