Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पेड़ पर फांसी लगाने वाली युवती के शव की तलाश में परेशान हुई 4 थानों की पुलिस.. सोशल मीडिया ग्रुपो में दिन भर वायरल होती रही पेड़ पर लटकी युवती की हाथ मे सोसाईट नोट वाली तस्वीर..

चार थानों की पुलिस होती रही जबाव देकर परेशान-
दमोह। सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली विभिन्न ब्रेकिंग न्यूज़ और तस्वीरो के जरिए लोगों को अपने मोबाइल पर घर बैठे दिनभर की ताजा अपडेट मिलती रहती है। वही नेताओं अधिकारियों की चमचागिरी की चाशनी से डूबी खबरें फोटो और वीडियो अपडेट करने वालो की भी कमी नही है। इनसे अलग कुछ तथाकथित खबर खोजी कॉपी पेस्ट के चक्कर में कहीं से कुछ भी उठा कर कई बार भ्रम के हालात निर्मित करने से भी नहीं चूकते हैं। ऐसी ही एक वायरल फोटो और पोस्ट की बजह से जिले के 4 थानों की पुलिस परेशान होती रही। परन्तु ने पेड़ पर लटकी युवती का शव मिला और ना ही कोई सुसाइड नोट।


दमोह जिले के कुछ सोशल मीडिया व्हाट्सएप ग्रुपो में बुधवार दोपहर पेड़ पर लटकी तथा हाथ में सुसाइड नोट लिए युवती की तस्वीर वायरल की गई थी। जिसमें उल्लेख किया गया था कि कुम्हारी गांव के पास ऐसी युक्ति ने प्रेम प्रसंग के चलते खुदकुशी कर ली है। इस पोस्ट को वायरल करने वाले शख्स के मीडिया के साथ साथ पुलिस की मुखबिरी से भी जुड़े होने की वजह से मीडिया कर्मियों को इस पर भरोसा करना स्वाभाविक था। इधर कॉपी पेस्ट करने वाले कुछ खबर खोजियों ने इस ग्रुप से उस ग्रुप में इस फोटो को वायरल करने में देर नहीं की। जिससे जिले के बाहर तक एस फोटो पोस्ट के जरिए सनसनीखेज माहौल बनते देर नहीं लगी।
इधर कुम्हारी थाना क्षेत्र के कुलवा गांव में शादी समारोह में आए एक युवक द्वारा बुधवार को ही आम के बगीचे में पेड़ पर फांसी लगा लेने का घटनाक्रम सामने आने के बाद तो इन दोनों घटनाओ को आपस मे जोड़कर सोशल मीडिया पर सनसनी ब्रेकिंग का दौर भी दिन भर चलता रहा। कुम्हारी थाना अंतर्गत बटियागढ़ क्षेत्र के युवक की फांसी लगाने की घटना की पुष्टि पुलिस द्वारा किए जाने में देर नहीं की गई। लेकिन युवती के हाथ में सुसाइड नोट वाली पेड़ पर लटकी फोटो की घटना की पुष्टि के लिए पत्रकारों को चार चार थानों में संपर्क करना पड़ा। परंतु रात तक कहीं की भी पुलिस इस घटनाक्रम की पुष्टि करने को तैयार नहीं हुई।
 जबेरा थाना में पदस्थ उप निरीक्षक एम पी अहिरवार का कहना था कि उनके थाना की घटना नही है। वही नोहटा थाना प्रभारी सुधीर बेगी ने नोहटा थाना क्षेत्र मैं इस प्रकार की कोई घटना नही होना बताया गया। जबकि कथित पोस्ट में  नोहटा थाना प्रभारी के मौके पर पहुंचने की बात भी लिखी गई थी। इसी तरह कुम्हारी और पटेरा थाना पुलिस भी युवती के द्वारा पेड़ से फांसी लगाकर आत्म हत्या की कोई घटना घटित नही होने की बात करती रही।  पुलिस कंट्रोल रूम में भी इस तरह की किसी घटना की सूचना नहीं होने की बात कही गई। ऐसे में सवाल यही उठता है यह लाश किसकी थी कहां की थी और कब की थी ? 
इस तरह की भ्रामक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल करने वालो कि असली मंशा क्या थी ? इसका पता तो नही लग सका है। परंतु एक थाना प्रभारी का कहना था की तथाकथित खबर खोजियों की खाने पीने की डिमांड पूरी नहीं करा पाने पर इस तरह की पोस्ट को वायरल करने की धमकियां अक्सर दी जाती रहती है। हो सकता है यह भी उसी का नतीजा हो। मनोहर शर्मा की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments