Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कांग्रेस की नामांकन रैली में गाड़ियों के काफिले तथा शस्त्र प्रदर्शन को लेकर.. आखिर कार दर्ज हुआ.. आचार संहिता उल्लंघन का मामला, अज्ञात बंदूकची पर भी प्रकरण..

एफएसटी टीम द्वारा दर्ज कराई गई देहात थाने मे रिपोर्ट-
दमोह। कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह के नामांकन जुलूस में वाहनों के काफिले तथा बंदूक के प्रदर्शन के मामले को प्रशासन ने आखिरकार संज्ञान में लेते हुए चुनाव आचार संहिता के तहत मामला दर्ज करा दिया है। FST टीम की शिकायत पर यह कार्यवाही होने की जानकारी सामने आई है। 
दमोह लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह का नामांकन जुलुस सोमवार दोपहर सागर नाका स्थित कृषि उपज मंडी से निकाला गया था। जिस में शामिल होने के लिए संसदीय क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों से कांग्रेस समर्थक नेता अपने वाहनों के साथ सम्मिलित हुए थे। इसी कड़ी में हटा क्षेत्र से भी बड़ी संख्या में कांग्रेस समर्थक भी जीप आदि वाहनों को लेकर दमोह पहुंचे थे। इस दौरान भीड़ के साथ बंदूक लेकर चलते हुए एक युवक का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।
जिसे भाजपा द्वारा चुनाव आचार संहिता उल्लंघन का मामला बताते हुए आपत्ति दर्ज कराई गई थी वहीं भाजपा प्रत्याशी प्रहलाद पटेल द्वारा भी मंगलवार को मीडिया के समक्ष इस मामले को लेकर खुलकर बयान दिया गया था। जिसके बाद मंगलवार रात इस पूरे मामले को लेकर FST टीम की रिपोर्ट पर देहात थाने में कांग्रेस रैली आयोजको के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कराने की जानकारी सामने आई है
बताया गया है कि एफ.एस.टी दल द्वारा देहात थाने मे रिपोर्ट दर्ज कराई रिपोर्ट में कॉग्रेस के सभा स्थल पर 3 बसें व 200 के लगभग चार पाहिया वाहन लाये जाने, जिसमें लोकसभा प्रत्याशी प्रताप सिंह व केबिनेट मंत्री हर्ष यादव की फोटो युक्त पोस्टर चिपके पाये जाने, जब कि कॉग्रेस पार्टी द्वारा रैली में 50 मोटर साईकिल की अनुमति ली गयी थी। वही उनके स्थान पर चार पाहिया वाहन का उपयोग किया गया। 
जिसे आदर्श आचार संहिता का उल्लघन पाते हुए प्रथम सूचना रिपोर्ट थाना दमोह देहात एफ.एस.टी. टीम प्रभारी थाना कोतवाली दमोह ताराचंद खोवरागडे द्वारा कॉग्रेस द्वारा आयोजित रैली एवं आम सभा आयोजक पर आचार सहिंता का उल्लघन करने एवं रैली मे अज्ञात बंदुक धारी के विरूद्ध भी प्राथमिकी दर्ज कराने की जानकारी पुलिस के कथित मुखबिर द्वारा देर रात सोशल मीडिया पर वायरल की गई। जिसके बाद इसकी पुष्टि हेतु लोग मीडिया कर्मियों को काल करते नजर आए। 

Post a comment

0 Comments