Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

किशोर न्याय अधिनियम तहत कार्यशाला आयोजित.. जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने बाल संरक्षण अधिनियम के बारे में विस्तार से दी जानकारी

किशोर न्याय अधिनियम तहत कार्यशाला आयोजित-
दमोह। किशोर न्याय अधिनियम (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 के तहत् जिला न्यायालय परिसर के एडीआर भवन में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एस. एस. रघुवंशी की गरिमामय उपस्थिति में एक दिवसीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विशेष न्यायाधीश आर.एस. शर्मा, प्रधान मजिस्ट्रेट रीतिका पाठक मिश्रा एवं संदीप श्रीवास्तव विशेष रूप से मौजूदगी रही। 

सरस्वती पूजन से प्रारंभ कार्यक्रम में अतिथियों के स्वागत उपरांत सेमीनार का शुभारंभ हुआ। जिला एवं सत्र न्यायाधीश एसएस. रघुवंशी ने उपस्थित प्रतिभागियों को बाल संरक्षण अधिनियम के बारे में विस्तार से बताया। विशेष न्यायाधीश पाक्सो संदीप श्रीवास्तव ने लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 (पाक्सो एक्ट) के तहत समस्त प्रतिभागियो और बाल कल्याण अधिकारियों को बालकों के प्रति अपने व्यवहार एवं कर्तव्यों के बारे में बताया गया। प्रधान मजिस्ट्रेट रीतिका पाठक मिश्रा ने लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 (पाक्सो एक्ट) एवं किशोर न्याय अधिनियम (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 के तहत विस्तार से प्रतिभागियों को जानकारी प्रदान की, जिसमें समस्त प्रतिभागियों उनके कार्यक्षेत्र में आने वाली समस्याओं एवं उनके प्रश्नों के उत्तर दिये।

  विशेष न्यायाधीश आर एस शर्मा द्वारा लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 (पाक्सो एक्ट) के तहत प्रतिभागियो को उनके द्वारा किये जाने वाले प्रकरण दर्ज करने एवं प्रस्तुतिकरण के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गयी। जिला विधिक सहायता अधिकारी रजनीश चैरसिया द्वारा विधिक सहायता के संबंध में उसके कार्यक्षेत्र की जानकारी प्रदान की गयी, जिसमें बाल कल्याण अधिकारियों से जिले में विधिक सहायता संबंधी सहायता बालकों पहॅुचायी जा सके। बाल संरक्षण अधिकारी अनंतराम कुर्मी द्वारा किशोर न्याय अधिनियम (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 के तहत दत्तक ग्रहण एवं फॅास्टर केयर योजना संबंधी विस्तार से जानकारी दी गई। सदस्य किशोर न्याय बोर्ड सुधीर विद्यार्थी द्वारा बालकों के हित में किये जा सकने वाले प्रयासों के संबंध में बताया गया।

प्रशिक्षण सह कार्यशाला में विधि सह परिवीक्षा अधिकारी मनीष खरे, सामाजिक कार्यकर्ता दीपेन्द्र विश्वकर्मा, आंकडा विश्लेषक कुमुद कुरेरिया, ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष, सदस्य एवं समस्त समेकित बाल संरक्षण योजना के अधिकारी एवं कर्मचारी के साथ-साथ दमोह जिले के समस्त पुलिस थानों से बाल कल्याण अधिकारी विशेष किशोर पुलिस इकाई  प्रतिभागी के रूप में उपस्थित रहे। अतिथियों एवं समस्त प्रतिभागियों का आभार बाल संरक्षण अधिकारी श्री अनंतराम कुर्मी जी प्रदर्शन किया गया।

Post a comment

0 Comments