Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कलेक्टर के आकस्मिक निरीक्षण से धान खरीदी केंद्रों में हड़कंप.. तारादेही में बारदाने के बाद भी खरीदी नहीं होने पर नाराजगी जताई, आधा दर्जन से अधिक केंद्रों का जायजा..

आधा दर्जन से अधिक केंद्रों का आकस्मिक भ्रमण-
दमोह। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा किसानों की समस्याओं के प्राथमिकता से समाधान पर जोर दिए जाने के बाद जिले के मुखिया कलेक्टर नीरज कुमार सिंह का ध्यान इन दिनों धान खरीदी केंद्रों के आकस्मिक निरीक्षण पर है। कलेक्टर की आकस्मिक बिजिट के दौरान कल धान खरीदी के बिना सिंगपुर, पौड़ी-मानगढ़ और चौपरा में बिना खरीदे केंद्रों में ऑनलाइन फीडिंग पाई गई थी। वहीं आज तारादेही केंद्र में बारदाने के बावजूद किसानों से धान खरीदी नहीं करने तथा टोकन देकर परेशान करने जैसे हालात सामने आए। जिसके बाद कलेक्टर ने नाराजगी जताते हुए संबधितों को कार्यवाही के निर्देश देते हुए त्वरित खरीदी के निर्देश दिए।

कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने बुधवार को तेंदूखेड़ा अनुविभाग के आधा दर्जन से अधिक खरीदी केंद्रों को आकस्मिक भ्रमण करके हालात का जायजा लिया  सबसे पहले तेजगढ़ के समीप हरई उर्पाजन केंद्र पहुंचे कलेक्टर ने धान की उपलब्धता, परिवहन आदि की जानकारी ली। तथा स्टाक रजिस्टर को चैक करके स्वयं धान के बोरियों की गिनती की। कलेक्टर की विजिट के दौरान हर्रई का उप स्वास्थ्य केंद्र बंद मिलने पर उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारी को कार्यवाही के निर्देश दिए। 
तेंदूखेड़ा पहुंचे कलेक्टर ने सांगा उर्पाजन केंद्र एक एवं दो का निरीक्षण करते हुए धान खरीदी की जानकारी ली तथा निर्देश दिए। समनापुर पहुंचकर सेवा सहकारी समिति में संचालित धान उर्पाजन केंद्र का जायजा लेकर जानकारी ली। तारादेही में बारदाना होने के बाद भी खरीदी बंद होने तथा किसानों को टोकन दिए जाने पर नाराजगी जताई। सारबगली केंद्र का जायजा लेकर धान खरीदी की स्थिति एवं संग्रहण का घूमकर जायजा लिया। ग्राम सेवक से टीकाकरण एवं ऋण माफी पत्रक भरे जाने आदि के बारे में जानकारी ली। झलोन पहुंचकर यहां भी उर्पाजन केंंद्र में चल रही खरीदी की समीक्षा की तथा निर्देश दिए।

इसके पूर्व मंगलवार को कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने आकस्मिक रूप से दूरस्थ अंचल पर बसें ग्राम सिंगपुर पहुंचकर समर्थन मूल्य पर खरीदी गई धान का मौके पर जाकर जायजा लिया, यहां खरीदी केन्द्र सिंगपुर में 1500 ड्डक्वटल धान ऑनलाईन सॉफ्टवेयर में दर्ज कर दी गई है, यह धान ना तो खरीदी गई ना ही समिति के वारदानों में रखी गई है। कलेक्टर ने मौके पर रूक कर पूरा रिकार्ड दिखवाया जिसमें कितनी धान खरीदी गई है, कितने वारदानें समिति को प्राप्त हुए है, के संबंध में खाद्य विभाग और तहसीलदार को तत्काल प्रतिवेदन तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने समिति प्रबंधक, सेल्समेन और ऑपरेटर के विरूद्ध कार्रवाही के निर्देश तहसीलदार जबेरा को दिये और मौके पर पंचनामा की कार्रवाही गई।

  इस अवसर पर यहां मौजूद किसानों और ग्रामीणों की बात भी कलेक्टर ने सुनी। उन्होंने ग्रामीणों से कहा खरीदी तिथि समाप्त होने के बाद भी ऑनलाईन इंट्री की गई है, परंतु तुलाई और खरीदी नहीं की गई है। कलेक्टर ने कहा यहां बारदानें का डेटा हमनें देखा है, बारदानें उपलब्घ है। यहां पर मौजूद एक किसान ने कहा यहां पर अंतिम समय किसानों का नहीं दूसरों का अनाज खरीदा गया है। ग्रामीणों से कहा ऑनलाइन इंट्री की गई है परंतु खरीदा नहीं गया है इसे हटवाया जायेगा। ग्राम सिंगपुर समिति में 488 पंजीकृत किसान है, इसमें से 224 विक्रेता किसान है, जिनसे 17 हजार 557 खरीदी जाना पाया गया, इसमें से 8993 ड्डक्वटल परिवहन होना बताया गया और खरीदी केन्द्र पर 8604 ड्डक्वटल धान प्रथम दृष्टया रखा पाया गया।

Post a comment

0 Comments