Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सर्द रात में लाल परी का टशन.. किल्लाईं नाके पर ट्रक की टक्कर से बाइक सवार फाइनेंस कंपनी के अधिकारी की मौत.. जटाशंकर तिराहे पर टकराई कार, लगा रहा जाम..

कारो में टक्कर, ट्रक से बाइक सवार की मौत-
दमोह। शादी विवाह समारोह की गर्मी के बीच सर्द रात में बेलाताल जटाशंकर मार्ग पर देर रात दो कारों की भिड़ंत की खबर से सनसनी के हालात निर्मित हो गए। इधर किल्लाईं नाके पर ट्रक की टक्कर से बाइक सवार की मौत हो जाने से देर रात सनसनी के हालात निर्मित होते देर नही लगी।

कुछ ही देर में पहुंची पुलिस और मीडिया कर्मियों को बाइक सवार मौके पर मृत पड़ा मिला। जबकि ट्रक को छोड़कर चालक भाग चुका था। बाइक सवार के साथ के व्यक्ति कमलेश यादव ने बताया की वह बाइक चला रहा था। पीछे से ट्रक की टक्कर लगने से साथ मे बैठे व्यक्ति की गिरकर मौत हो गई।

जिस व्यक्ति की मौत हुई है वह भोपाल निवासी श्रीराम फाइनेंस कंपनी का रिकवरी अधिकारी करतार सिंह बताया जा रहा है। बाइक सवार दोनों लोग होटल से खा-पी के सुरेका कालोनी जा रहे थे। इसी दौरान किल्लाई नाके पर सागर तरफ से जबलपुर की और जा रहे ट्रक की पीछे से चपेट में बाइक पर पीछे बैठे व्यक्ति को ठोकर लगी और वह गिरता चला गया।
 जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने यूपी पासिंग के ट्रक क्रमांक यूपी 95 टी 7575 को कब्जे में लेकर चालक की तलाश शुरू कर दी है। वही फाइनेंस कंपनी के रिकवरी मैनेजर के शव को अस्पताल भेजकर मृतक के परिजनों को सूचना भेज दी है। फाइनेंस कंपनी का यह अधिकारी रात में ही विदिशा से ट्रेन से दमोह रेलवे स्टेशन पर उतरा था और कुछ देर बाद ही इस दुखद हादसे का शिकार हो गया।
किल्लाईं नाके पर जिस जगह पर यह दुखद हादसा हुआ है वहां राहगीरों की सुरक्षा हेतु यातायात पुलिस द्वारा बैरिकेट्स का भी इंतजाम कराया गया है। दिन में राहगीरों स्कूली बच्चों तथा छोटे वाहन चालकों के लिए सुरक्षा कवच साबित होने वाले यह बैरिकेट्स रात के समय नशे में धुत बाइक सवारों के लिए हादसे की वजह बनते नजर आए है।
जटाशंकर तिराहे पर आधी रात को हुआ ट्रैफिक जाम-
देर रात दो कारो के बीच हुई भिड़ंत में एक कार को मामूली क्षति पहुंचने के बाद विवाद के हालात बनते देर नही लगी। दोनों गाड़ी में सवार लोग स्वयं के सुरक्षित बचने की खुशी मनाने के वजाय एक दूसरे को टेंशन देते रहे। जिससे आधी रात को सड़क पर आवागमन थमने से जाम जैसे हालात बनते देर नहीं लगी।


इस दौरान एंबुलेंस जैसे वाहन को निकलने में परेशानी हुई और 108 वाहन भी भीड़ में फंसा रहा। बाद में पुलिस को मौके पर देख कर दोनों वाहन चालको ने  आपस में राजीनामा कर लिया तथा पुलिस को जाम से आवागमन बहाली हेतु देर तक मशक्कत करना पड़ी।
दोनों ही हादसों के बाद मौके पर लोगों की भीड़ लगी रही तथा कोतवाली टीआई, सीएसपी, पुलिस अमला के अलावा हंड्रेड डायल भी मौके पर पहुंची। 
ठंड की सर्द रातो को अपने घरों में अपनों के साथ गुलजार करने के बजाय होटल ढाबों मे लाल परी के पैग टकराकर टुन्न हो जाने के बाद गाड़ी चलाने के नजारे 31 दिसंबर के पहले ही नजर आने लगे है। नव वर्ष की पूर्व बेला में इस तरह के हादसे दुर्घटनाएं ना हो तथा सभी सुरक्षित अपने घर में पहुंचे इसके लिए हम सभी को जागरूकता का परिचय देना आवश्यक हो गया है। वहीं पुलिस को नशाखोरी करने वाले वाहन चालकों को काबू में करने सख्त कार्यवाही का भय दिखाना भी आज ही आवश्यक हो गया है। SP साहब भी ध्यान देवे। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट


Post a comment

0 Comments