Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पटवारी के जुआ फड़ में कहा से आए लाखो रुपए..! क्या यहां पर करोड़ों का क्रिकेट का सट्टा भी होता था ?

पटवारी के काउंटर में 1 लाख 26 हजार कहा से आये ?
दमोह। चर्चित पटवारी शिव शंकर पटेल उर्फ टेड़े के सरकारी आवास पर चल रहे जुआ फड़ पर छापा मारी किये जाने के बाद पुलिस द्वारा जप्त की गई रकम को लेकर गड़बड़ी  के आरोप सामने आने लगे हैं। वही यह भी सवाल  उठाए जा रहे हैं  कि आखिर पटवारी के  काउंटर में सवा लाख की रकम कहां से आई ?  क्या यहां पर जुआ के अलावा क्रिकेट का सट्टा की चलता था ?वहीं  पूर्व में सरकारी आवास में जुआ फड़ और पटवारी के पकड़े जाने के बावजूद उसके खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई, इसको लेकर भी अब सवाल उठाए जा रहे हैं।
बता दें कि कलेक्ट्रेट के समीप अधिकारियों के आवास के पीछे स्थित टेड़े पटवारी के सरकारी आवास में चल रहे जुआ फड़ पर  रविवार अवकाश के दिन  शाम को पुलिस ने छापा मारते हुए पटवारी सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनके पास से जब्त की गई रकम 3 लाख 72 हजार 600 बताई गई है। यदि यह छापा रात में पढ़ता तो रकम कितनी अधिक होती अंदाजा लगाना मुश्किल है।
TI आरके गौतम ने पुलिस कारवाही के बाद टेड़े पटवारी जुआ फड़ से पकड़े गए सातों आरोपियों के नाम, उनके पास से बरामद रकम, मोबाइल आदि के बारे में मीडिया को अधिकृत जानकारी देते हुए बताया कि..


  इधर इन जुआड़ियों की गिरफ्तारी के बाद कोतवाली में टीआई आरके गौतम की मौजूदगी में जब जुआ फड़ के नोटों की गिनती और जब्ती बनाई जा रही थी तब जब्ती की रकम में पटवारी की दराज से बरामद रकम को भी मिला दिए जाने पर टेड़े पटवारी कुछ मीडिया कर्मियों की मौजूदगी में बिफरता हुआ नजर आया। टीआई के सामने ही चीखते हुए उसने 1लाख 26 हजार रुपए गड़बड़ कर दिए जाने के आरोप लगाए। 

जिसके बाद पिछले साल की तरह इस बार भी पटवारी के जुआ फड़ से जब्त की गई रकम में हेराफेरी को लेकर  पुलिस कार्यवाही पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। हालांकि इस मामले में टीआई कुछ भी बोलने से बच रहे। वहीं तथाकथित खबर नवीस मुखबिर इस कार्रवाई के दौरान पिछली बार की तरह है इस बार भी अधिकांश समय कोतवाली में पूरे समय डटे रहे।

उल्लेखनीय है कि पिछली बार इस जुआ फड़ से जब्त राशि मे से लाखों की रकम गड़बड़ होने का मामला जुआड़ियों की शिकायत के तौर पर एसपी तक पहुंचा था। जिसकी जांच एएसपी से कराई गई थी। देखना होगा कि इस बार भी जब्त रकम में गड़बड़ी की शिकायत एसपी से की जाती है अथवा नहीं। 
इधर जानकारों का कहना है कि पटवारी के आवास पर जुआ के साथ क्रिकेट का सट्टा भी चलता था। पकड़े गए
आरोपियों के मोबाइल की जाँच से सटोरियों की लोकेशन ट्रेस होंने व क्रिकेट के बड़े सट्टे का खुलासा हो सकता है। पुलिस इस कार्रवाई को जुए तक ही सीमित रखती है या फिर क्रिकेट के सट्टे का खुलासा करनेे के लिए भी कार्यवाही को आगे बढ़ाती है। इसका इंतजार है।

अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments