Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

मप्र के विभिन्न जिलों में 20 से 31 मई के बीच 6 चरणों में कोरोना कर्फ्यू हटाने की तैयारी..! इधर दमोह से नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक अजय टंडन 21 मई को शपथ ग्रहण करेंगे.. मप्र में अब दुकानों पर नहीं हॉस्पिटल में मिलेंगे एन्टी फंगस के इंजेक्शन.. नए दिशा निर्देश हुए जारी

 20 से 31 मई के बीच 6 चरणों में हटेगा कोरोना कर्फ्यू..!

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के अवर में कमी  के साथ प्रदेश के विभिन्न जिलों में 6 चरणों में 20 से 31 मई के बीच कोरोना कर्फ्यू हटाने की तैयारी शुरू हो गई है सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सबसे पहले 20 मई को बुरहानपुर जिला कोरोना कर्फ्यू से मुक्त होने जा रहा है। 


दूसरे चरण में 24 मई को सुबह 6:00 बजे से प्रदेश के 25 जिलों को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त करने की तैयारी है इन 25 जिलों में भोपाल जबलपुर रीवा छिंदवाड़ा होशंगाबाद सिंगरौली सतना सीधी अशोकनगर धार मंदसौर राजगढ़ टीकमगढ़ पन्ना खरगोन गुना बड़वानी शाजापुर निवाड़ी खंडवा छतरपुर झाबुआ कटनी हरदा और दतिया जिले शामिल बताए जा रहे हैं इधर तीसरे चरण में 25 मई की सुबह 6:00 बजे अलीराजपुर नरसिंहपुर बैतूल अनूपपुर रतलाम आदि पांच जिलों को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त किया जा सकता है चौथे चरण में 27 मई को सुबह 7:00 बजे डिंडोरी तथा पांचवें चरण में 29 मई की रात इंदौर को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त किया जा सकता है।


सातवें और अंतिम चरण में प्रदेश के 19 जिलों को 31 मई की सुबह 6:00 बजे कोरोना कर्फ्यू से मुक्त किया जा सकता है इन 19 जिलों में उज्जैन ग्वालियर शिवपुरी सागर मुरैना नीमच शहडोल उमरिया देवास आगर मालवा रायसेन भिंड बालाघाट शिवपुर सिवनी सीहोर विदिशा मंडला और दमोह जिला शामिल बताए जा रहे हैं।
नवनिर्वाचित विधायक अजय टंडन 21 मई को शपथ लेंगे..  

दमोह विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव में निर्वाचित कांग्रेसी विधायक अजय टंडन एक 23 मई 2021 को विधायक पद की शपथ लेंगे इस बात की सूचना आज विधानसभा सचिवालय द्वारा जारी कर दी गई है उल्लेखनीय है कि श्री टंडन ने 2 मई को आए चुनाव परिणामों में भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह को 17 हजार से अधिक मतों से पराजित करके शानदार जीत हासिल की थी जिसके बाद अब उनको विधायक पद की शपथ 21 मई को दिलाई जाएगी।
 दुकानों पर नहीं हॉस्पिटल में मिलेंगे ब्लैक फंगस के इंजेक्शन


भोपाल। मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस के केस सामने आने मरीजों की संख्या में इजाफा होने और इसके इंजेक्शन बाजार से गायब हो जाने के बाद इनकी कालाबाजारी रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब यह इंजेक्शन मेडिकल स्टोरों के बजाय हॉस्पिटल से ही उपलब्ध कराए जाएंगे। तद संदर्भ में आदेश जारी कर दिए गए हैं। जिस से संबंधित मरीजों को अब दुकानों पर नही सीधे हॉस्पिटल से एन्टी फंगल इंजेक्शन दिये जाएंगे।  रेमडिसिवर की तरह प्रदेश सरकार ने इनके लिए भी नई दिशा निर्देश जारी किए है।

Post a Comment

0 Comments