Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह विधानसभा उपचुनाव में अजय टंडन को टिकट की खबर से कांग्रेसियों के बीच जश्न का माहौल.. इधर भाजपा का बैठको से उपचुनाव का शंखनाद.. मंत्री भूपेंद्र सिंह, संभागीय संगठन मंत्री शैलेंद्र बरुआ और केशव सिंह भदोरिया ने किया मार्गदर्शन..

 अजय टंडन को कांग्रेस टिकट की खबर से कांग्रेस खेमे में जश्न 

दमोह। दमोह विधानसभा के उपचुनाव के लिए 23 मार्च से नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के पहले ही विभिन्न दलों के प्रत्याशी घोषित होने लगे है। शक्तिपुत्र महाराज की भारतीय शक्ति चेतना पार्टी ने जहां उमा सिंह ठाकुर को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है वही शिवसेना की तरफ से नरसिंहगढ़ के राज पाठक को प्रत्याशी बनाए जाने की जानकारी सोशल मीडिया पर एक पत्रकार द्वारा वायरल की गई है। 

रविवार 21 मार्च की शाम जिला कांग्रेस कार्यालय से लेकर घंटाघर और अंबेडकर चौक तक कांग्रेसजनो की आतिश बाजी पटाखों के साथ जश्न का माहौल देखने को मिला वहीं कांग्रेस नेता हाथों में पार्टी का झंडा लिए गांधी जी एवं अंबेडकर जी को फूल मालाएं पहनाकर जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन को उपचुनाव में पार्टी टिकट मिलने की बधाई शुभकामनाएं देते नजर आए।

इधर पार्टी टिकट की खबर से बेहद उत्साहित अजय टंडन भाजपा के संभावित प्रत्याशी राहुल सिंह के खिलाफ खुलकर बोलते नजर आए उन्होंने यहां तक कह दिया दमोह की जनता ने आज तक किसी बेईमान नेता को नहीं चुना है। ऐसे में राहुल सिंह के जीतने का सवाल ही नहीं उठता उनका कहना था वह राहुल को हिंडोरिया से दमोह लेकर आए थे और वही हरा कर वापस हिंडोरिया भेजेंगे श्री टंडन ने राहुल सिंह को दलबदल मामले में खुले मंच से बहस करने की चुनौती देते हुए यहां तक कह डाला कि यदि वह अपनी बात से जनता को तथा उन्हें संतुष्ट कर देंगे तो चुनाव के पहले ही हार मान लेंगे नहीं तो राहुल को हार मानना होगी।

आपको बता दें कि ढाई साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में राहुल सिंह ने भाजपा के कद्दावर नेता जयंत मलैया को पराजय का स्वाद चखाया था। बाद में श्रीमंत सिंधिया के नेतृत्व में 2 दर्जन कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देकर दलबदल करने की वजह से कमलनाथ सरकार के गिर जाने के बाद उपचुनाव में भाजपा की जीत तय होने के साथ शिवराज सरकार कायम रहने की स्थिति नजर आने लगी थी। जिस को देेेख ऐन मौके पर राहुल सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा देेेकर भाजपा का दामन थाम लिया था। इसके करीब 2 माह बाद राहुल सिंह को मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एंड लार्जेस्ट इन का चेयरमैन बनाकर कैबिनेट मंत्री का दर्जा शिवराज सरकार द्वारा दे दिया गया था। वहीं पिछले माह दमोह में मेडिकल कॉलेज का भूमि पूजन भी शिवराज सिंह चौहान करते हुए दमोह से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर राहुल सिंह के नाम पर मोहर लगाकर चले गए थे। इसके बाद से ही पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया के खेमे में बेचैनी का माहौल देखने को मिल रहा था। वही उनके पुत्र सिद्धार्थ मलैया भी राहुल की राह में लगातार रोड़े अटकाने की कोशिश करने से नहीं चूक रहे थे। जबकि क्षेत्रीय सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल का खुला सपोर्ट राहुल सिंह के साथ नजर आ रहा था। 

                                    

वही जिला पंचायत चुनाव में शिवचरण पटेल से मांत खाने वाले राहुल को अव बड्डा से नजदीकी बढ़ाने में भी कोई गुरेज नजर नहीं आ रही है। जब कि शिवचरण का बेटा भी देवेंद्र चौरसिया हत्या कांड मामले में आरोपी होने के साथ 2 साल से जेल में बंद है। लेकिन राहुल को प्रहलाद पटेल की तरह शिवचरण का साथ लेने में कोई बुराई नजर नहीं आना इसलिए चर्चा का विषय बना हुआ है क्योंकि इससे चौरसिया समाज राहुल से खफा नजर आने लगा है। 

                                        

अब जबकि दमोह चुनाव की घोषणा हो जाने के साथ कल से चुनावी प्रक्रिया शुरू होने जा रही है ऐसे में अपने जीत के प्रति आश्वस्त नजर आ रही भाजपा तथा राहुल के लिए कांग्रेस ने अजय टंडन के रूप में कड़ी चुनौती दे दी है। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व दो बार अजय टंडन जयंत मलैया को कड़ी चुनौती दे चुके है। जबकि 2008 और 2013 का चुनाव कांग्रेस में दलबदलू प्रत्याशी चंद्रभान सिंह के नाम पर लड़ा था जिससे भाजपा को जीत मिलती रही थी। लेकिन अब बदले हुए हालात में  भाजपा की ओर से दल बदलू प्रत्याशी कांगेस के सामने हैं। वहीं पूर्व मंत्री पुत्र सिद्धार्थ मलैया भाजपा की राजनीति छोड़कर अपनी निजी पॉलिटिक्स के जरिए अपने नंबर बढ़ाने में जुटे हुए हैं। 

                                     

ऐसे में कांग्रेस फीलगुड महसूस कर रही है। जबकि भाजपा को अपनी देश प्रदेश में सत्ता का भरोसा बना हुआ है। जबकि इस चुनाव में पर्दे के पीछे से पेट्रोल डीजल गैस तेल आदि की बढ़ती हुई कीमतों, किसान आंदोलन तथा बेरोजगारी का मुद्दा भी आम जनता के दिलो-दिमाग में छाया हुआ है। जो भाजपा के लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है। इधर जिला कांग्रेस अध्यक्ष और उनका संगठन अनुभव के मामले में भाजपा और उसके जिलाध्यक्ष से बहुत आगे और मजबूत हैं। उनको अनेक चुनाव लड़ने और पिछले विधानसभा चुनाव में राहुल सिंह को जिताने का अनुभव है। जबकि भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह का यह  पहला चुनाव होगा जो वह अपने प्रदेश अध्यक्ष मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री की हौसला अफजाई में जीतने का मंसूबा बनाए नजर आ रहे हैं।

भाजपा ने विभिन्न बैठकें करके किया उपचुनाव का शंखनाद      

                                                                     

 दमोह। दमोह विधानसभा के उपचुनाव की दृष्टि से भारतीय जनता पार्टी की कामकाजी बैठके भारतीय जनता पार्टी जिला कार्यालय में मध्य प्रदेश शासन के वरिष्ठ मंत्री और दमोह विधानसभा उपचुनाव के प्रभारी भूपेंद्र सिंह के  आतिथय एवं संभागीय संगठन मंत्री शैलेंद्र बरुआ (जबलपुर) केशव सिंह भदौरिया (सागर ) के मार्गदर्शन में आयोजित की गई।इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष एडवोकेट प्रीतम सिंह लोधी ,मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक कारपोरेशन के चेयरमैन राहुल सिंह, जबेरा विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी, हटा विधायक पी एल तंतुवाय, पूर्व मंत्री पूर्व सांसद डॉ रामकृष्ण कुसमरिया , पूर्व मंत्री दशरथ सिंह लोधी, कॉपरेटिव बैंक के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र गुरु, पूर्व विधायक लखन पटेल, सोनाबाई, उमादेवी खटीक, पुष्पेंद्र नाथ गुड्डन पाठक, के के श्रीवास्तव, पूर्व जिला अध्यक्ष हेमंत छाबड़ा, बिहारी लाल गौतम, विद्यासागर पांडे, नरेन्द्र व्यास, देवनारायण श्रीवास्तव विशेष रूप से उपस्थित थे।

                                        

आपेक्षित श्रेणी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सागर संभाग के संभागीय संगठन मंत्री केशव सिंह भदोरिया ने कहा कि कार्यकर्ता दुगनी ताकत से चुनावी समर में लगकर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी राहुल सिंह को हजारों हजार मतों से विजई बनाने का रास्ता प्रशस्त करें साथ ही बूथ पर सामंजस्य बनाकर कार्यकर्ता प्राण से जुट जाएं , कार्यकर्ता समय समय पर काम की समीक्षा करते रहें ताकि उपचुनाव रूपी इस चुनावी समर को जीता जा सके । मध्य प्रदेश के वरिष्ठ संगठन मंत्री शैलेंद्र बरुआ ने कहां की कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर कुशल मतदाता प्रबंधन एवं माईक्रो बूथ मैनेजमेंट से चुनाव जीतना है, श्री  बरुआ ने कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने के टिप्स भी दिए।

                                      

 उपचुनाव के प्रभारी भूपेंद्र सिंह ने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि चुनाव में पार्टी के विजन पर काम करने की आवश्यकता है सेक्टर पर कार्यालय एवं सेक्टर पर दीवार लेखन का कार्य शीघ्र प्रारंभ करने की भी बात श्री भूपेंद्र सिंह ने कही साथ ही कार्यकर्ताओं को जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक सेक्टर पर एक एक मंत्री को भी जिम्मेदारी दी गई है। भाजपा के प्रत्याशी राहुल सिंह 30 मार्च को  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा जी की उपस्थिति में नामांकन दाखिल करेंगे।  जिला मीडिया प्रभारी संजय सेन ने  बताया है कि आज की बैठकों में कोर कमेटी ,प्रबंध समिति ,बूथ प्रभारी एवं प्रदेश द्वारा नियुक्त सेक्टरों प्रभारियों ने भाग लिया । वही वरिष्ठ नेता राजेंद्र गुरु को दमोह विधानसभा उपचुनाव का संचालक बनाया गया है। पिक्चर अभी बाकी है अभिजीत जैन के साथ अभिषेक जैन की रिपोर्ट      

Post a Comment

0 Comments