Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

लगातार छटवे दिन कोरोना केसों में कमी.. अक्टूबर के चौथे दिन 16 नए मरीज मिले 16 पुराने डिस्चार्ज होकर घर पहुंचे.. कलेक्टर ने कहां यदि सर्दी खांसी या बुखार है तो फीवर क्लीनिक में जाए.. बीमारी छिपायें नहीं समय पर इलाज करायें..

 लगातार छटवे दिन कोरोना केसों में कमी आई.. 

दमोह। जिले में लगातार छठवें दिन कोरोना संक्रमण के मरीजों की मिलने की संख्या में कमी आई है। 28 सितंबर को 50 पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी इसके बाद नए मरीजों की संख्या में लगातार कमी हुई है। 29 सितंबर को 28 मरीज, 30 सितंबर को 29, एक अक्टूबर को 34 , दो अक्टूबर को 24, तीन अक्टूबर को 15 नए मरीज मिलने के बाद आज 4 अक्टूबर को 16 नए मरीज मिले हैं वही 16 मरीजों ने कोरोना की जंग जीतकर घर वापसी की है।

 अक्टूबर के चौथे दिन 16 नए मरीज मिलने और पुराने 16 मरीजों के डिस्चार्ज होने के बाद टोटल कोविड-19 मरीजों की संख्या 1805 हो गई है। वही ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी 1222 हो गई है। जबकि अभी  459 रिपोर्ट आना बाकी है। जो 16 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से ठीक होकर अपने घर रवाना हुए  इनमें पथरिया कोविड केयर सेंटर से 01, हिण्डोरिया कोविड केयर सेंटर से 02, विवेकानंद कोविड केयर सेंटर से 01, जबेरा कोविड केयर सेंटर 04, हटा कोविड केयर सेंटर से 04 एवं डीसीएससी वार्ड दमोह से 04 कोरोना योद्धा स्वस्थ्य होकर अपने घरों को रवाना हुए। 

इधर आज जो16 पॉजिटिव केस सामने आए है  इनमें फीमेल मरीज 20 और 34 वर्ष की तथा मेल मरीज 23 से  63 वर्ष के बीच के है। नए मरीजों में विवेकानंद नगर दमोह से 01, आमचैपरा दमोह से 02, दमोह से 01, बांदकपुर से 01, खडेरा से 01, बालाजी वार्ड हटा से 01, कोरता जबेरा से 01, मागंज वार्ड 03 से 02, सिविल वार्ड 09 से 01, तीनगुल्ली दमोह से 01, पलंदी चैराहा से 01, सिमरी दमोह से 01, सिविल लाईन पटेरा से 01, मागंज वार्ड 05 से 01 मरीज है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं संगीता त्रिवेदी ने दी है।

बीमारी छिपायें नहीं समय पर इलाज करायें-कलेक्टर

दमोह। कलेक्टर श्री तरूण राठी ने जिले-वासियों से अपील की है कि जिन व्यक्तियों को सर्दी, खांसी, बुखार तथा गले में खरांस की समस्या है, तो तत्काल चिकित्सालय में जाकर इलाज करायें, जिससे तत्काल उनका उपचार प्रारंभ कराया जा सके एवं उनके स्वास्थ्य में सुधार हो सके। साथ ही 60 वर्ष से अधिक उम्र के वृद्ध व्यक्ति तथा मधुमेह या अन्य किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्ति जिनको सर्दी, खांसी, बुखार तथा गले में खरांस की समस्या हैं, वे तुरंत चिकित्सालय में जाकर अपना इलाज करायें, जिससे उनकी समय पर उचित देखभाल हो सके। श्री राठी ने कहा कि ऐसे व्यक्ति जो घरों में ही रहकर सर्दी, खांसी, बुखार तथा गले में खरांस का इलाज करा रहे हैं, वे व्यक्ति इस संबंध में अपनी जानकारी नहीं छुपायें और जिम्मेदार नागरिक बनकर चिकित्सालय में अपना इलाज करायें। जिससे वायरस के और अधिक फैलने से रौका जा सके। 

Post a comment

0 Comments