Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

रेलवे ने यात्री ट्रेनों को सीमित करके व्यापारियों के माल ढुलाई हेतु आकर्षक योजनाएं लांच की.. मिनी रैक चलाने, स्टेशन से स्टेशन तक कि बुकिंग, माल भाड़े में कन्सेशन तथा अन्य रियायतों का.. पत्रकार वार्ता में मंडल रेल प्रबंधक जबलपुर ने किया ऐलान..

पत्रकार वार्ता में मंडल रेल प्रबंधक ने किया योजना का ऐलान
 जबलपुर। मंडल रेल प्रबंधक जबलपुर संजय विश्वास ने आज एक पत्रकार वार्ता में बताया कि रेलवे द्वारा कोविड 19 के चलते जहाँ एक ओर यात्री यातायात को न्यूनतम रखा गया है वही रेलवे द्वारा गुड्स यातायात को बढ़ाने के लिए नयी योजनाये लायी जा रही है। इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि व्यापारियों को सस्ता, सुलभ एवं सुरक्षित ढुलाई का साधन उपलब्ध हो सके।
 इस सम्बन्ध में जबलपुर मंडल द्वारा भी भारतीय रेलवे की माल ढुलाई से सम्बंधित विभिन्न आकर्षक योजनाओ का लाभ जबलपुर मंडल के व्यापारियों को देने हेतु आकर्षक योजनाओ कि जानकारी दी. इस अवसर पर श्री विश्वास ने व्यापारियों के लिए मिनी रैक चलाने, स्टेशन से स्टेशन तक कि बुकिंग, माल भाड़े में कन्सेशन तथा अन्य रियायतों के बारे में बताया. इस अवसर पर उन्होंने व्यापारियों के अनुरोध पर नए रैक चलने एवं कोच में माल बुक करके भेजने की  जानकारी दी. इस अवसर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री दीपक गुप्ता, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री विश्व रंजन,  वरिष्ठ मंडल यातायात प्रबंधक डॉ. मधुर वर्मा  वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक कोचिंग मनोज कुमार गुप्ता,  मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री देवेश सोनी तथा सहायक  वाणिज्य प्रबंधक श्री पंकज दुबे सहित अनेक अधिकारी  उपस्तिथ थे.
 इस सम्बन्ध में जबलपुर मंडल द्वारा भी भारतीय रेलवे की माल ढुलाई से सम्बंधित विभिन्न आकर्षक योजनाओ का लाभ जबलपुर मंडल के व्यापारियों को देने हेतु आकर्षक योजनाओ कि जानकारी देते हुए  पत्रकारवार्ता में श्री विश्वास ने बताया कि कोई भी व्यापारी यदि बोरे  में बंद  माल  को  रेलवे से  खुले तथा समतल वैगन में लदान किये जाने हेतु संपर्क करेगा तो उसे इस तरह की बुकिंग में  प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत उसे मालभाड़े में  20% से   30 % तक की रियायत दी जाएगी। इसी तरह लंबी दूरी की माल ढुलाई पर 700 KM. से अधिक दूरी के ट्रेफिक पर 15 % की रियायत  शुरू की  गई है। इसी तरह 1500 कि.मी. तक की दूरी के लिए बंद वैगनों को मिनी रेक (21 वैगन ) के रूप में देने की अनुमति प्रदान की जाएगी, जिसका लाभ छोटे व्यापारी उठाकर कम माल होने पर सड़क कि अपेक्षा रेल मार्ग का उपयोग करते हुए सुगमता एवं सुरक्षित तथा कम भाड़े में कर सकते है।
 श्री विश्वास ने स्टेशन टू स्टेशन योजना, वैकल्पिक माल  गोदाम का चयन, सहित अधिसूचित प्रारंभिक एवं गंतव्य स्टेशनो  के बीच  लदान पर दी जाने वाली भारी छूट के विषय में विस्तृत  जानकारी दी गयी.

Post a comment

0 Comments