Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

पर्यटकों को लुभा रही नदी किनारे बाघों की मस्ती.. नौरादेही अभ्यारण में बमनेर नदी किनारे हो रहा दो बाघों का दीदार..सैलानियों के विदेशी कैमरे में कैद वनराज की मस्ती

 3 जिलों की सीमा में फैले नौरादेही अभ्यारण में गर्मी बढ़ने के साथ ही पर्यटकों की संख्या में जहां इजाफा हुआ है वही पानी की कमी के चलते वन्यजीवों का नदी सरोवरो की तरफ पलायन बड़ा है ऐसे में अब बाघों को शिकार की तलाश में नदी किनारे डेरा डाले हुए भी देखा जा सकता है। बाघों की अठखेलियां की ऐसी ही कुछ तस्वीर सैलानियों के विदेशी कैमरे में कैद बात सामने आई है..

 सागर दमोह नरसिंहपुर जिले में फैले नौरादेही अभ्यारण में गर्मी बढ़ने के साथ वन्यजीवों को जल सरोवर के किनारे पसंद आने लगे हैं तथा सुबह शाम यह पानी पीने के अलावा यहां पर मस्ती के मूड में अठखेलियां करते हुए भी नजर आते हैं। यहां पहुंचने वाले पर्यटकों को भी इंतजार रहता है कि कब वह वन्यजीवों की अनदेखी लाजवाब हरकतों को अपने कैमरे में कैद करे। अभयारण्य में बाघों की संख्या 8 हो जाने के साथ ही सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र बाघों की वह जोड़ी बनी हुई है जो साथ में घूमती फिरती मस्ती मूड में अक्सर नजर आती है। यहां पहुंचे पर्यटको के बीच भीषण गर्मी में नदी किनारे अठखेलियां करते हुए बाघों का दीदार करना पहली पसंद बना हुआ है इसके लिए पर्यटक काफी दूर से घंटों तक कैमरे दूरबीन की मदद से नजरें गड़ाए रहते हैं कब बाघ पहुंचे और वह उनको अपने कैमरे में कैद करें।

यह तस्वीरें नौरादेही अभ्यारण्य के बीच से निकली बमनेर नदी के तट की है। जहाँ गर्मी से बचने ठंडक का मजा लेते दो बाघो की मस्ती को अपने कैमरे में कैद करके सैलानी बेहद रोमांचित होते नजर आए। नौरादेही अभ्यारण्य भ्रमण करने आए इन पर्यटकों की किस्मत शानदार रही जब अभ्यारण्य में सफारी का आनंद लेते वक्त उन्हें बमनेर नदी किनारे दो बाघों का दीदार हुआ। दरअसल नौरादेही अभ्यारण्य से निकली हुई दो नदियां का संगम है जिसमें बमनेर नदी और दूसरी व्यारमा नदी है। जो 12 महीने के साथ गर्मियों के दिनों अभ्यारण्य के जानवरों को पानी की पूर्ति करती है। इसके साथ ही छबेला तालाब के साथ कई जल स्त्रोत है तो 12 महीने पानी के भरे रहते हैं और यहां जानवर हमेशा देखे जाते हैं.. विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments