Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कोविड-19 रोकथाम हेतु स्वास्थ्य विभाग में जारी भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी.. नर्सिंग कोर्स एवं डिप्लोमा वालों की अनदेखी कर अनंतिम सूची जारी.. अजाक्स संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा.. आउटसोर्स से कर्मचारियों की भर्ती पर आपत्ति जताई.. 10 सितंबर से आंदोलन की चेतावनी..

अजाक्स संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा.. 
दमोह। स्वास्थ्य विभाग में जिला स्तर पर होने वाली भर्ती नियुक्तिी प्रक्रिया में पारदर्शिता के अभाव के चलते पर हमेशा से उंगलिया उठाई जाती रही है ताजा मामला कोरोना संक्रमण काल में मानव संसाधन की पूर्ति हेतु चल रही चयन प्रक्रिया पर आपत्ति दर्ज कराए जाने का सामने आया है। अजाक्स संघ ने जिला अस्पताल में एनेसथीसिया विशेषज्ञ 4 पद, मेडिकल विशेषज्ञ 4 पद चिकित्सा अधिकारी 30 पद एवं स्टाॅफ नर्स 31 पदों की भर्ती प्रक्रिया पर सवाल करते हुए कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। जिसमें नर्सिंग कोर्स एवं डिप्लोमा वालों की अनदेखी कर बारहवी आधार पर अनंतिम सूची जारी किए जाने, आरक्षण रोस्टर का ध्यान नहीं रखे जाने की ओर ध्यान आकर्षित कराते हुए आउटसोर्स से कर्मचारियों की भर्ती पर आपत्ति जताई है। 10 सितंबर से आनिश्चित कालीन आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है।
मप्र अनुसूचित जाति जनजाति अधिकारी एवं कर्मचारी संघ अजाक्स जिला दमोह द्वारा कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में जिला संरक्षक प्रताप रोहित ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थय विभाग दमोह में कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु जिले में मानव संसाधन की पूर्ति हेतु एनेसथीसिया विशेषज्ञ 4 पद, मेडिकल विशेषज्ञ 4 पद चिकित्सा अधिकारी 30 पद एवं स्टाॅफ नर्स 31 पदों का विज्ञापन जारी करते हुए 11.08.2020 को जारी कर आवेदन बुलाएं गये थे। जिसमें स्टाॅफ नर्स हेतु 393 आवेदन कार्यालय में जमा हुए। 31.08.2020 को स्टाॅफ नर्स के अनंतिम सूची जारी की गयी, दिनांक 01.09.2020 को स्थानीय शासकीय अवकाश था एवं दि. 02.09.2020 को कार्यालय में अनंतिम सूची पर दर्ज करायी गयी किंतु अनंतिम सूची पर आपत्तियों पर कोई भी कार्यवाही नहीं की गयी है तथा कार्यालय प्रमुख् द्वारा आपत्तियां लेने से इंकार किया जा रहा है। 01.09.2020 के दमोह प्रकाशन द्वारा ज्ञात हुआ है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्टाॅफ नर्स की भर्ती हेतु बीएससी नर्सिग (चार वर्षिय डिग्री) एवं जीएनएम डिप्लोमा की अंक सूचियों को दरकिनार कर केवल 12वीं की मैरिट पर अनंतिम सूची जारी कर दी गयी जिसमें आरक्षण रोस्टर का पालन भी नहीं किया गया है। क्या स्वास्थ्य विभाग डाॅक्टरों की भर्ती में भी एमबीबीएस डिग्री को डरकिनार कर 12वीं के आधार पर मेरिट बनाई जाएगी इसमें भी आरक्षण रोस्टर का पालन नहीं किया गया हैं। 
14.08.2020 को अद्र्वकुशल श्रमिक (डाटा एन्ट्री आपरेटर, केयर टेकर, वार्ड वाय, कुक, आया, वाहन चालक, हेल्पर) आदि हेतु जारी कार्यालय द्वारा जारी निविदा सूचना की ई-टेंडर की वेवसाइट अंतिम तिथि तक नहीं खोली गई साथ इस कोई भी अधिकारी एवं कर्मचारी इस विषय पर जानकारी देने भी तैयार नहीं। इससे यह स्पष्ट है कि उपरोक्त निविदा सूचना प्रयोजित तरीक से व्यक्तिगत लाभ पहुंचाने की दृष्टि से नहीं बताई जा रही है जिससे इस निविदा को कोई अन्य व्यक्ति व संस्था इसमें भाग न ले सकें और अंत में विभाग द्वारा सुनियोजिक तरीके से एक ही व्यक्ति को तीन टेंडर फार्म 22.08.2020 को दिये जिसकी आपत्ति दर्ज करायी गयी थी। 
अजाक्स संघ ने मांग की है कि स्वास्थ्य विभाग दमोह में स्टाॅफ नर्स की भर्ती हेतु 12वीं की अंकसूची के आधार पर जारी अनंतिम सूची निरस्त कर बीएससी नर्सिग (चार वर्षिय डिग्री) एवं जीएनएम डिप्लोमा की अंक सूचियांे के आधार पर सबसे पहले बीएसएसी नर्सिग एवं दूसरे स्थान पर जीएनएम डिप्लोमाधारी को चयनियत कर आरक्षण रोस्टर का पालन किया जाए तथा सुनियोजित तरीके से ठेकेदारी के माध्यम से आउटसोर्स से कर्मचारियों की जा रही भर्ती पर तत्काल रोक लगायी जाएं अन्यथा संघ को बाध्य होकर 10 सितंबर से आनिश्चित कालीन आंदोलन करना पडे़गा जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग एवं शासन प्रशासन की होगा। ज्ञापन सौंपने वालों में प्रताप रोहित, कन्छेदीलाल अहिरवार, मोहन आदर्श सहित बड़ी संख्या में लोगों की मौजूदगी रही।

Post a comment

1 Comments

  1. बिलकुल सही बात है जो काम जिसका उसे ही मिलना चाहिए

    ReplyDelete