Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नीमच में नगर परिषद के नवरात्र दशहरा समारोह के दौरान.. नाइस नाइट इवेंट्स मुंबई की कलाकारों ने हुस्न का जलवा बिखेरा.. अश्लील कामुक नृत्य को नजदीक से देखने मंच पर रूपए लुटाने लगी रही होड़..

नगर परिषद के आयोजन बेशर्मी की हदों को किया पार
नीमच । जिले की जीरन नगर परिषद द्वारा नवरात्र  दशहरा पर आयोजित मंचीय आर्केष्टा कार्यक्रम के दौरान नाइस नाइट इवेंट्स मुंबई की आर्केस्ट्रा कलाकार बेशर्मी की हदों को पार करती नजर आई। मुंबई की  बार बालों की तर्ज पर फिल्मी गीतों की धुन पर जमकर ठुमके लगाते हुए देर रात तक चले आयोजन में अश्लीलता की पराकाष्ठा को पार करते हुए इन्होंने अपने हुस्न का ऐसा जलवा बिखेरा की अनेक युवा नजदीक से एक झलक पाने के लिए मंच पर जाकर रूपए लुटाने को मजबूर हो गए।
  नवरात्र  समापन पर दशहरे के धार्मिक सांस्कृतिक कार्यक्रम के नाम पर हुए इस आयोजन के दौरान मंच पर पीछे आर्केस्टा प्रस्तुति देने वाले नाइस नाईट इवेंटस मुंबई का बैनर लगा हुआ था। वहीं मंच के सामने नगर परिषद जीरन के हार्दिक अभिनंदन का बैनर हवा में लहराता शायद यह बताता नजर आ रहा था कि नगर परिषद के  जनप्रतिनिधियों को चलाचली कि बेला में अब अपनी जनता के मनोरंजन की कितनी चिंता हो रही है।  इधर आर्केस्ट्रा नाइट की युवतियां अपनी कामुक अदाओं के जरिए यहां के लोगों के फसल बरबादी के गम को हल्का करने की कोशिश करती रही। अश्लीलता की हदो को पार करते हुए फिल्मी गीतों की धुन पर कम वस्त्रों में कामोत्तेजक नृत्य प्रस्तुतियों के जरिए स्थानीय युवाओं की जेब को हल्का किया जाता रहा।  
 इस दौरान अनेक युवा जोश में आकर स्टेज में चढ़कर नोट उड़ाते हुए इन नव योवनाओं के हुस्न के वशीभूत होकर मर्यादा को खोते नजर आए। वही कामुकता के साथ अपने अंग प्रत्यंग दिखाती यह युवतियां बार बालाओं को पीछे छोड़ती नजर आई। जबकि नगर परिषद के सीएमओ इसे सांस्कृतिक आयोजन बताते नजर आए। उन्हें इस पूरे आयोजन में कहीं भी अश्लीलता और फूहड़ता दिखाई नहीं दी। धर्म के नाम पर इस तरह के आयोजन वह भी उस क्षेत्र में है जहां के किसान अतिवर्षा से बर्बाद होकर खून के आंसू बहाने को मजबूर है, कहा तक उचित कहा जा सकता है ?

 कांग्रेस समर्थक नगर परिषद अध्यक्ष वाली जीरन नगर पालिका के इस आयोजन में भाजपा पार्षदों की भी उपस्थिति के नाम पर बराबरी से सहभागिता नजर आई, ऐसे में आयोजन पर आपत्ति दर्ज कराना सिर्फ मीडिया के खाते में बचता नजर आया। इस खबर को दिखाने के पीछे हमारा मकसद आयोजन की अश्लीलता को पेश करने के बजाय शासन प्रशासन तक वास्तविक हालात पहुचाना है। दशहरा के दिन सोशल मीडिया पर अश्लील डांस के आयोजन की वीडियो वायरल होने के बाद स्थानीय प्रशासन और प्रदेश के मंत्री मुख्यमंत्री नगर परिषद के सीएमओ तथा आयोजकों पर क्या एक्शन लेते हैं इसका सभी को इंतजार है।

Post a comment

0 Comments